छत्तीसगढ़

आतंकवाद और माओवाद से लड़ाई की भाजपा की बाते सिर्फ दिखावा : कांग्रेस 

भाजपा ने तो आतंकवाद और माओवाद को खादपानी देने का काम किया है 

रायपुर: प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा आतंकवाद और नक्सलवाद से लड़ाई का सिर्फ दिखावा करती है। आतंकवाद को मुंॅहतोड़ जवाब देने का दंभ भरने वाली भाजपा ने हकीकत में तो माओवाद और आतंकवाद को खादपानी देने का काम किया है। भाजपा के 15 वर्षो के शासन काल में छत्तीसगढ़ में माओवाद का विस्तार हुआ है। नक्सलवाद दक्षिण बस्तर के 4 ब्लाकों से निकल कर छत्तीसगढ़ के 14 जिलों तक पहुंच गया है।

आतंकवादियों के प्रति भाजपा का आचरण दोहरा है कि उसने काश्मीर में दस साल की सजा काट चुके हरकत-उल- मुजाहिदीन के मोहम्मद फारूख, एक पूर्व आतंकी को पार्टी टिकट दिया था। दूसरी तरफ लोकसभा चुनाव में भोपाल में प्रज्ञा ठाकुर को भाजपा उम्मीदवार बनाया है। जिस पर मालेगांव केस में आतंकवाद का आरोप है और जिसे कोर्ट ने अब तक आरोप मुक्त नहीं किया है।

मेडिकल ग्राउण्ड पर जमानत पर बाहर आई प्रज्ञा ठाकुर अब तक आतंकवाद के आरोप से मुक्त नहीं है।देश ही नहीं विदेशो में भी झूठ फैलाने वाली भाजपा के दोहरे आचरण का जीताजागता सबूत ये है कि, देश भर में इनके झण्डों और बैनरों का रंग भगवा होता है, पर काशमीर पहुंचते ही भाजपा के बैनर का रंग हरा हो जाता है और लिखावट ऊर्दू। यह है भाजपा का दोहरा आचरण।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि सत्ता पाने के लिये भाजपा ने जम्मू कश्मीर में अलगावादियों की घोषित समर्थक पीडीपी के साथ सरकार बनायी और 4 साल तक चलाई भी। कश्मीर में भाजपा ने पीडीपी की इस शर्त को मानकर सरकार बनाई कि धारा 370 को काश्मीर से नहीं हटाया जायेगा। भाजपा ने चार साल तक काश्मीर में आतंकवाद को फलने-फूलने का पूरा मौका दिया, सैकड़ो सिपाहियों की शहादत हुई और जब लोकसभा चुनाव सामने आये जो अपने आप को पाक-साफ बताने के लिये,

साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की राजनीति करने के लिये, जनता में भ्रम फैलाने के लिये भाजपा ने पीडीपी से गठबंधन तोड़ा लेकिन अंदर-अंदर भाजपा की अलगाववादियों से मिलीभगत जारी है। भाजपा पाकिस्तान से बात नहीं करने पाक का मुंहतोड़ जवाब देने की सिर्फ बातें करती है। हकीकत में मोदी सरकार में सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बेटे का बिजनेस पार्टनर एक पाकिस्तानी हैं। मोदी जी के मित्र अडानी पाकिस्तान को बिजली बेच रहे है। राष्ट्रवादी होने का नकाब ओढ़नेवाली भाजपा का यही असली चेहरा है।

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि मोदी राज में 2014 से 2018 तक काश्मीर घाटी में आतंक और सीमापार अतिक्रमण की घटनाएं दो गुना से ज्यादा बढ़ी है। मोदी राज में नागरिक और सैनिकों की शहादत की संख्या तीन गुना से ज्यादा बढ़ी है।

पठानकोट, उरी, गुरूदासपुर और पुलवामा जैसे भीषण आतंकवादी हमले हुए। पुलवामा हमले एवं 42 सैनिकों की शहादत की खबर मिलने के बाद भी मोदी घण्टों तक जिम कार्बेट में अपने विज्ञापन के लिए फोटोशूट करवाते रहे। पालम एयरपोर्ट में शहीदों का शव और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी सहित शहीदों के परिजन इंतजार करते रहे। प्रधानमंत्री चुनावी रैली को संबोधित करके दो घण्टे बाद पहुंचे।

 

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि पठानकोट हमले के बाद जांच के लिये आईएसआई को भाजपा सरकार ने हमारे देश के सैनिक अड्डे और प्रतिष्ठान दिखाकर देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया। अशोक चक्र से सम्मानित शहीद हेमंत करकरे का भाजपा की नेता प्रज्ञा ठाकुर अपमान करती है।

छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े राजनैतिक हत्या कांड झीरम नक्सल हमले की जांच भाजपा नहीं होने देना चाहती। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार के द्वारा बार-बार झीरमघाटी हमले की जांॅच की फाईल मांगे जाने के बाद भी भाजपा की केन्द्र सरकार फाईल नही सौंप रही है। मोदी के इशारे पर एनआईए फाईल को दबाकर बैठी है। भाजपा को किस बात का डर है, उसके किन नेताओं का नाम इस फाईल में छुपा है।

 

प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि शहीदों का और उनकी शहादत का अपमान ही भारतीय जनता पार्टी की फितरत है। छत्तीसगढ़ की भाजपा की सरकार ने शहीदों का बार बार अपमान किया था, किरंदुल में कचरा गाड़ी में शहीदों के शव धोए गए थे, चिंतागुफा में हुई जवानों की शहादत का तिरंगा लगी वर्दी कचरे के ढेर में फेंक कर अपमान किया गया था।

चिंतागुफा की घटना के बाद भाजपा सरकार शहीदों के शवों के अवशेषों को भी संभाल कर नहीं रख सकी थी। मर्चरी के बाहर जवानों के जूते कपड़े बिफरे पड़े थे, शहीद जवानों की वर्दी कूड़ेदान में पड़ी मिली मार्चुरी में शरीर के अवशेषों को कुत्तें खा रहे थे। भाजपा की सरकार में इतनी मानवता और सौजन्यता नहीं थी कि शहीदों के अवशेषों और स्मृतियों को सम्मान के साथ रख सके। हकीकत में भाजपा और भाजपा की सरकारों ने आतंकवाद और माओवाद को खादपानी देने का काम किया है।

Tags
Back to top button