कोरोना के बाद अब जान का दुश्मन बना ब्लैक फंगस,छत्‍तीसगढ़ में आया संक्रमण

ब्‍लैक फंगस के संक्रमण से निपटने के लिए मुख्यमंत्री स्‍वयं सामने आ गए।

रायपुर। कोरोना संक्रमण ने सबको झकझोर कर रखा हुआ है। संक्रमित होने और मौत का सिलसिला अब भी जारी है। वहीँ कोरोना संक्रमण के बाद अब ब्लैक फंगस बन रहा लोगों की जान का दुश्मन.. छत्‍तीसगढ़ में ब्‍लैक फंगस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है।

वहीँ इसकी भनक लगते ही सरकार हरकत में आ गई। ब्‍लैक फंगस के संक्रमण से निपटने के लिए मुख्यमंत्री स्‍वयं सामने आ गए। उन्‍होंने संक्रमण की जानकारी को गंभीरता से लिया। छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में ब्लैक फंगस के उपचार के लिए जरूरी दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश में ब्लैक फंगस के संक्रमण होने की जानकारी को गंभीरता से लिया है। उन्होंने छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में ब्लैक फंगस के उपचार के लिए सभी जरूरी दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिये हैं।

ज्ञातव्य है कि वर्तमान में छत्तीसगढ़ राज्य में ब्लैक फंगस का संक्रमण होने की जानकारी प्राप्त हो रही है। जिसके रोकथाम के लिए पोसाकोनाजोल एवं एम्फोटेरसिन-बी औषधियों की आवश्यकता होती है, जिसकी नियमित एवं विधिवत आपूर्ति किया जाना अतिआवश्यक है।

मुख्यमंत्री के निर्देशों के परिपालन में छत्तीसगढ़ के खाद्य एवं औषधि प्रशासन नियंत्रक ने सभी जिलों में पदस्थ औषधि निरीक्षकों को अपने जिलों में औषधि पोसाकोनाजोल एवं एम्फोटेरेसिन-बी (समस्त डोसेज फाॅर्म, टेबलेट, सीरप, इंजेक्शन एवं लाइपोसोमल इंजेक्शन) की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए हैं।

खाद्य एवं औषधि प्रशासन नियंत्रक ने औषधि निरीक्षकों को निर्देशित किया है कि वे अपने-अपने कार्यक्षेत्र के भीतर समस्त होलसेलर, स्टाॅकिस्ट, सीएंडएफ से उक्त औषधियों की वर्तमान में उपलब्ध मात्रा की जानकारी प्रतिदिन प्राप्त करें। औषधि निरीक्षक अपने क्षेत्र के सभी औषधि प्रतिष्ठानों को इस संबंध में आवश्यक निर्देश जारी करें।

 

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button