अपने ही बाप को करता था ब्लैकमेल, निकालें 12 लाख रुपए

मनमोहन पात्रे:

रुपयों की हवस में अंधे हो चुके बेटों ने पिता को ही टॉर्चर करना शुरू कर दिया। हैवानियत की हद को पार करते हुए मारपीट कर पिता को कमरे में बंद करने वाले पुत्रों और बहू के ख़िलाफ़ अब कोतवाली पुलिस ने मामला दर्ज़ कर लिया है।

दरअसल पूरा मामला शहर के पोस्ट ऑफिस के पीछे बंगाली मोहल्ले का है, जहां रहने वाले बद्रीशंकर मुखर्जी को उसके पुत्रों देवतोष मुखर्जी, ऋषितोश मुखर्जी और बहू इंद्राणी मुखर्जी ने रुपयों के लालच में टार्चर करना शुरू कर दिया था।

तीनो पर आरोप है कि उन्होंने बुजुर्ग पिता को मारपीट कर एक कमरे में बंद कर दिया था और पांच कोरे चैक में दस्तख़त करा लिया था और उस चैक का इस्तेमाल करते हुए 12 लाख रुपये अपने पत्नी और बच्चों के नाम से ट्रांसफर करा लिए थे, जिसपर बद्री शंकर मुख़र्जी ने कोर्ट में परिवाद दायर किया था।

परिवाद पत्र से ही तीनो पर पुलिस ने भादवि की धारा 394,364क,420,467,468,471,477,323 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Back to top button