कोलकाता के दमदम बाजार इलाके में ब्लास्ट, बच्चे की मौत, 10 घायल

कोलकाता।

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के उत्तरी उपनगर दमदम के बाजार इलाके में एक बहुमंजिला इमारत के सामने मंगलवार को हुए विस्फोट में एक बच्चे की मौत हो गई। इस घटना में 10 लोग घायल बताए जा रहे हैं। बच्चे की उम्र 7 साल की थी, जिसे हादसे के बाद अस्पताल ले जाया गया था।

इलाज के दौरान ही उसकी मौत हो गई। इस घटना पर राजनीति भी शुरू हो गई है। टीएमसी इस विस्फोट के पीछे बीजेपी और आरएसएस का हाथ बता रही है, वहीं बीजेपी ने इस घटना पर टीएमसी द्वारा राजनीति करने का आरोप लगाया है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि विस्फोट की घटना दमदम पुलिस थाना क्षेत्र के व्यस्त काजीपारा क्षेत्र के भूतल पर स्थित फल की एक दुकान के बाहर सुबह साढ़े 9 बजे के करीब हुआ। घायलों को सरकारी आरजी कार मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल ले जाया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘यह एक उच्च तीव्रता वाला ब्लास्ट था। 4 लोग गंभीर रूप से घायल हैं। अभी ब्लास्ट किस तरह का था इसकी पहचान नहीं हो पाई है क्योंकि यहां बारूद की कोई महक नहीं है।’

‘विस्फोट के पीछे बीजेपी और आरएसएस के हाथ’

स्थानीय विधायक पूर्णेंदु बोस ने इस विस्फोट के पीछे बीजेपी और आरएसएस के हाथ होने का आरोप लगाया है। उन्होंने हमारे सहयोगी चैनल टाइम्स नाउ से कहा, ‘यह दुर्घटना नहीं बल्कि योजना के तहत किया गया हमला है। यह टीएमसी नेता और कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने की साजिश थी। यह किसी गुप्त संगठन की करतूत है। यह शॉकेट बम जैसा हमला नहीं था, बल्कि माइन्स जैसा था। विधानसभा और नगर निगम में टीएमसी के अच्छे काम को निशाना बनाने की कोशिश की गई थी।’

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता बाबुल सुप्रियो ने टीएमसी पर इस घटना पर राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘यह किस तरह का ब्लास्ट था, दूसरों पर आरोप लगाया जा रहा है। यह टीएमसी की राजनीति का हिस्सा बन गई है। पहले भी बीजेपी पर ऐसे आरोप लगाए गए लेकिन कुछ नहीं मिला।’

अधिकारी ने बताया कि इस इमारत में दक्षिणी दमदम नगर निगम के अध्यक्ष का कार्यालय भी है। पुलिस ने बताया कि विस्फोट किस प्रकृति का था यह पता लगाने के लिए एक फरेंसिक टीम और खोजी कुत्तों को घटनास्थल पर भेजा गया है। वहीं पश्चिम बंगाल के मंत्री पुरनेंदु बसु ने हमले के पीछे आरएसएस पर शक जताया है।

‘मुझे निशाने पर रखकर किया गया विस्फोट’

इस इमारत में दक्षिणी दमदम नगर निगम के अध्यक्ष पंचू रॉय का कार्यालय भी है। उनका दावा है कि यह विस्फोट उन्हें निशाने पर रखकर किया गया था। रॉय किसी राजनीतिक पार्टी नाम लेते-लेते रूक गए और उन्होंने कहा कि इस हमले के पीछे उसी पार्टी का हाथ है जो पूरे बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस से जुड़े लोगों पर हमले कर रहे हैं।

उन्होंने बताया, यह सुनियोजित तरीके से किया गया विस्फोट है। उन्होंने मुझे और अन्य तृणमूल कार्यकर्ताओं को मारने की साजिश रची क्योंकि इससे लोगों में घबराहट पैदा होगी और वह इस क्षेत्र में पैठ बनाएंगे।’ रॉय ने दावा किया कि घायल लोगों की संख्या 10 है। जब उनसे पूछा गया कि क्या यह विस्फोट तृणमूल कांग्रेस की आपसी लड़ाई का नतीजा है तो उन्होंने कहा कि दक्षिण बंगाल में यह कोई मुद्दा नहीं है?

Back to top button