तेंदुलकर से पहले सिर्फ एक क्रिकेटर का जर्सी नंबर हुआ था रिटायर

तेंदुलकर से पहले सिर्फ एक क्रिकेटर का जर्सी नंबर हुआ था रिटायर

क्रिकेट के इतिहास में ये दूसरा मौका है, जब किसी बोर्ड ने किसी खिलाड़ी का जर्सी नंबर रिटायर कर दिया हो। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का जर्सी नंबर-10 अनऑफिशियल तौर पर रिटायर कर दिया। भारत की ओर से इंटरनेशनल क्रिकेट में अब कोई भी क्रिकेटर इस नंबर की जर्सी पहनकर खेलने नहीं उतर पाएगा। तेंदुलकर नंबर-10 की जर्सी पहनकर खेलते थे और नवंबर 2013 में उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। उसके बाद से फैन्स नंबर-10 जर्सी रिटायर करने की मांग कर रहे थे।

तेंदुलकर से पहले ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर फिल ह्यूज का जर्सी नंबर रिटायर किया गया था। ह्यूज का निधन 27 नवंबर को हुआ था। बाउंसर गेंद लगने से ह्यूज मैदान पर गिर पड़े थे, और इसके दो दिन बाद उनका निधन हो गया था। जिस समय ह्यूज को चोट लगी थी, उस समय वो 63 रन बनाकर नॉटआउट थे। ये एक इत्तेफाक ही था, कि जितना रन बनाकर वो उस समय नॉटआउट थे, वही उनका जर्सी नंबर भी था।

ये भी इत्तेफाक ही है कि तेंदुलकर और ह्यूज की जर्सी को एक ही तारीख पर रिटायर किया गया। मार्च 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ तेंदुलकर ने अपना आखिरी वनडे मैच खेला था और तब आखिरी बार वो नंबर-10 जर्सी पहनकर खेलने उतरे थे।

तेंदुलकर के बाद करीब पांच साल तक इस जर्सी नंबर की जर्सी को किसी भारतीय ने नहीं पहना। अगस्त में शार्दुल ठाकुर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया और उनका जर्सी नंबर-10 था। इसके बाद क्रिकेट फैन्स ने बीसीसीआई और शार्दुल दोनों को आड़े हाथों लिया। एक बीसीसीआई अधिकारी के मुताबिक, ‘इस बात को बेकार में इतना तूल दिया गया था। इसके चलते खिलाड़ी को खरी-खोटी सुनना पड़ा। इससे बेहतर है कि इसे अनऑफिशियली रिटायर कर दिया जाए। खिलाड़ी इस नंबर की जर्सी इंडिया-ए या नॉन-इंटरनेशनल मैच में पहन सकते हैं लेकिन इंटरनेशनल मैच में इसे नहीं पहन सकेंगे।

मुंबई इंडियंस ने 2013 में 10 नंबर की जर्सी रिटायर कर दी थी। मुंबई इंडियंस के लिए भी तेंदुलकर इसी नंबर की जर्सी पहनकर खेलते थे। 2013 में जब उन्होंने क्रिकेट के हर फॉरमैट से संन्यास लिया, तो मुंबई इंडियंस ने उनका जर्सी नंबर रिटायर कर दिया था। शार्दुल ठाकुर ने हालांकि बाद में अपना जर्सी नंबर बदलकर 54 कर लिया था।

Back to top button