गांव से बरामद हुआ 29 अप्रैल को अपहरण हो चुके LJP नेता का शव

नेता की हत्या की सूचना के बाद परिजनों के होश उड़ गए

पूर्णिया:तीन दिनों से अपहृत लोजपा के प्रदेश नेता अनिल उरांव की अपहर्ताओं ने हत्या कर दी। उसका शव रविवार सुबह केनगर थाना क्षेत्र के झुन्नी इस्तंबरार के डंगराहा गांव में मिला. नेता की हत्या की सूचना के बाद परिजनों के होश उड़ गए. पोस्टमॉर्टम होने के बाद परिजनों ने लाश को आरएन साहू चौक पर रखकर जमकर हंगामा किया.

परिजनों का कहना है कि 10 लाख की फिरौती देने के बाद हत्या की गई. ये पुलिस की ​बड़ी नाकामी है. पूर्णिया से लोक जनशक्ति पार्टी के नेता अनिल उरांव का 29 अप्रैल को अहरण कर लिया गया था. इस अपहरण के बाद परिजन पुलिस के पास पहुंचे.

पुलिस ने आश्वासन दिया था कि अनिल उरांव को सुरक्षित अपहरणकर्ताओं के चंगुल से आजाद कराया जाएगा, लेकिन आज अनिल उरांव की लाश कृत्यानंद नगर थाना क्षेत्र के डंगराहा गांव से बरामद हुई. पुलिस ने आनन फानन में नेता की लाश का पंचनामा भरकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया.

उधर घटना की जानकारी जब परिजनों को लगी, तो उनके होश उड़ गए. पॉ​स्टमॉर्टम होने के बाद नेता की लाश को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया, इसके बाद आक्रोशित परिजन लाश को लेकर आरएन साहू चौक पहुंच गए. यहां पर लाश को रखकर हंगामा करना शुरू कर दिया. परिजनों ने बताया कि 10 लाख की बदमाशों को फिरौती दी गई, इसके बाद भी अनिल उरांव की हत्या कर दी गई. परिजनों ने कहा कि ये पुलिस की बड़ी नाकामी है.

बता दें कि बीते दिन अनिल उरांव की बरामदगी को लेकर परिजनों और उनके समर्थकों ने पूर्णिया शहर में चक्का जामकर हंगामा किया था. पूर्णिया में अनिल उरांव काफी सक्रिय रहते थे. वे यहां की मनिहारी विधानसभा सीट से चुनाव लड़ते थे. उनका पैतृक घर पूर्णिया के जेपी नगर में है.
TAGS

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button