बॉलीवुडमनोरंजन

बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार संजीव कुमार की आज पुण्यतिथि

शोले में ठाकुर के रोल के कारण आज भी याद किया जाता हैं संजीव कुमार को

फिल्मी परदे पर कई तरह के गंभीर और चुनौती भरे किरदार निभा दर्शकों के दिलों पर राज करने वाले बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार संजीव कुमार की आज पुण्यतिथि हैं। बॉलीवुड को शानदार फिल्में देने वाले संजीव कुमार बहुत जल्द दुनिया को अलविदा कह गए। संजीव कुमार का महज 47 की उम्र में साल 1984 में हार्ट अटैक से निधन हो गया था। संजीव कुमार की फिल्मों और जया बच्चन के साथ उनकी सुपरहिट जोड़ी के कई किस्से मशहूर हैं लेकिन ‘शोले’ फिल्म में ठाकुर का किरदार उनके अभिनय से अमर हो गया।

संजीव कुमार को दो बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला। साल 1960 में आई फिल्म ‘हम हिंदुस्तानी’ संजीव कुमार की पहली फिल्म थी। संजीव कुमार को हमेशा इस बात का डर रहता था कि वो जल्दी ही दुनिया को अलविदा कह देंगे इसके पीछे उनका एक डर था जो उनके मन में बैठ गया था।

दरअसल संजीव कुमार के घर सभी मर्दों ने 50 से कम उम्र में ही दुनिया को अलविदा कह दिया था ऐसे में संजीव कुमार को भी यही लगता था कि वो भी 50 से कम उम्र में ही दुनिया को अलविदा कह देंगे। संजीव कुमार और जया बच्चन की जोड़ी एक समय बहुत हिट रही। संजीव कुमार ही ऐसे एक्टर थे जिनके साथ जया ने पति से लेकर ससुर तक के रोल किए।

फिल्म ‘कोशिश’ में पति का रोल,’अनामिका’ में प्रेमी का किरदार,’शोले’ में ससुर का रोल और ‘सिलसिला’ में भाई का रोल कर दोनो ने बड़े परदे पर काफी सुर्खियां बटोरी। एक समय ऐसा भी आ गया कि परदे पर संजीव कुमार और जया बच्चन की जोड़ी को देखने के लिए इनके फैंस काफी उत्साहित रहते थे।

कहा जाता है कि संजीव कुमार को एक बार नूतन ने सेट पर थप्पड़ मार दिया था। दरअसल 1969 में फिल्म ‘देवी’ की शूटिंग चल रही थी। इसमें हीरो थे संजीव कुमार और हीराइन थीं नूतन। शूटिंग के दौरान सेट पर एक पत्रिका में छपी अपने और संजीव के अफेयर की खबर को देखते ही नूतन का पारा चढ़ गया। खबर में लिखा था कि नूतन अपनी शादीशुदा जिंदगी से खुश नहीं हैं और पति से अलग होकर संजीव कुमार के साथ घर बसाना चाहती हैं लेकिन आखिरी शूटिंग शेड्यूल के दौरान उन्होंने संजीव कुमार को एक कोने में बुलाया और संजीव कुमार के गाल पर जोरदार तमाचा मारा।

शायद आप नहीं जानते होंगे फिल्म ‘शोले’ में संजीव कुमार ने जो ठाकुर का रोल निभाया था उसे धर्मेन्द्र करना चाहते थे। उस समय हेमा मालिनी के प्यार के दीवाने दो एक्टर्स थे एक तो धर्मेन्द्र और दूसरे संजीव कुमार। फिल्म निर्देशक रमेश सिप्पी उलझन में पड़ गए। रमेश सिप्पी ने धर्मेन्द्र से कहा कि तुम्हें वीरू का रोल निभाते हुए ज्यादा से ज्यादा हेमा मालिनी के साथ रोमांस करने का मौका मिलेगा यदि तुम ठाकुर बनोगे तो मैं संजीव कुमार को वीरू का रोल दे दूंगा।</>

ट्रिक काम कर गई और धर्मेन्द्र ने यह जिद छोड़ दी और इतिहास गवाह है ठाकुर के रोल के कारण संजीव कुमार को आज तक याद किया जाता हैं। हेमा मालिनी के प्यार में दीवाने संजीव कुमार ने कभी शादी नहीं की कई एक्ट्रेस उनकी जिंदगी में आईं लेकिन जब हेमा मालिनी ने उनके प्यार को ठुकरा कर एक्टर धमेंद्र से शादी कर ली तो हेमा के एकतरफा प्यार में संजीव ने सारी जिंदगी अकेले ही गुजार दी।<>

Tags
advt