अमिताभ ने बाल ठाकरे को बताया अपनी ‘लाइफ का हीरो’, किए कई सनसनीखेज खुलासे

बाल ठाकरे की बायोपिक फिल्म 'ठाकरे' का फर्स्ट लुक रिलीज करने पहुंचे बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने कई गोपनीय बातें शेयर की.

नई दिल्ली: बाल ठाकरे की बायोपिक फिल्म ‘ठाकरे’ का फर्स्ट लुक रिलीज करने पहुंचे बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने कई गोपनीय बातें शेयर की. शिव सेना के संस्थापक बाल ठाकरे के महाराष्ट्र में लाखों फॉलोअर्स थे, एक समय में मुंबई जैसे महानगर में उनका ही राज चलता था.

अमिताभ ने बाल ठाकरे से जुड़ी ऐसी बातें साझा की जोकि अभी तक सिर्फ बच्चन-ठाकरे के बीच में ही थी. इवेंट में पहुंचे अमिताभ ने कहा कि बाला साहेब एक परिवार की तरह थे और उनसे बेहद व्यक्तिगत संबंध थे. बिग बी ने यह भी बताया कि जब मेरी जीवन की सबसे कठिन वक्त चल रहा था तो उन्होंने ही मेरी मदद की थी.

बता दें कि गुरुवार को मुंबई के एक होटल में बाल ठाकरे की बायोपिक फिल्म ‘ठाकरे’ का टीजर और पोस्टर जारी किया गया. इस मौके पर शिव सेना के सांसद और फिल्म प्रोड्यूसर संजय राउत भी मौजूद थे. शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पोस्टर से पर्दा उठाकर फिल्म का फर्स्ट लुक रिलीज किया.

इस दौरान अमिताभ बच्चन ने उस समय को याद किया जब वह और उनके परिवार बोफोर्स घोटाले के आरोपों का सामना कर रहे थे. बिग बी ने कहा कि बाला साहेब ने मुझे इस मामले को लेकर बुलाया और कई सारे सवाल पूछे. उन्होंने पूछा कि मुझे पूरी सही-गलत बात बताओ और मुझे सच्चाई ही बताना.

जिसके जवाब में अमिताभ ने कहा बालासाहेब इसमें कोई भी आधार नहीं है. बिग बी ने इस मामले के बारे में आगे बतलाते हुए कहा कि बाल ठाकरे ने फिर पूछा क्या तुम बिल्कुल सच बोल रहे हो? तो फिर मैंने कहा हां. इस जवाब के बाद बाबा साहेब ने कहा कि तो फिर तुम डरो मत.

अमिताभ ने आगे बताया कि उन्होंने मुझसे कहा तुम तब तक घर के अंदर रहो जब तक यह मामला शांत नहीं हो जाता. उसके बाद सिर ऊंचा करके बाहर निकलना और तब मैं तुम्हारे साथ चलूंगा.

अमिताभ बच्चन ने एक और बताई कि बाला साहेब ने उस वक्त भी मेरी मदद की जब सन् 1982 में फिल्म ‘कुली’ के सेट पर शूटिंग के दौरान मैं बुरी तरह घायल हुआ था. उन्होंने मेरी जान बचाई. मुझे बेंगलुरू से मुंबई ले आया गया. उस वक्त काफी बारिश हो रही थी और कोई भी एंबुलेंस उपलब्ध नहीं थी.

बिग बी ने आगे बताते हुए कहा कि उस दौरान शिव सेना की एंबुलेंस ने जोकि मुझे हास्पिटल तक पंहुचाया. स्वास्थ्य के सही होने और शादी के बाद बाला साहेब ने मुझे और मेरे पत्नी जया बच्चन को अपने घर पर भी बुलाया था. 2012 में मृत्यु के दौरान उन्हें इस हालात में देखना मेरे लिए काफी कठिन रहा.

advt
Back to top button