Happy Birthday Namrata Shirodkar: इनके पति की एक फिल्म ने सलमान खान को बनाया सुपरस्टार, जीती हैं ऐसी लाइफ

1993 में मिस इंडिया का ताज अपने नाम करने वाली नम्रता 46वां जन्मदिन मना रही हैं. नम्रता इन दिनों लाइमलाइट से दूर हैं.

नई दिल्ली: बात साल 2009 की है. उससे पहले तक सलमान खान बॉलीवुड में अच्छा काम तो कर रहे थे लेकिन उनकी फिल्में उस तरह से क्लिक नहीं हो रही थीं. लेकिन 2009 में आई ‘वॉन्टेड’ ने उनके करियर की दशा और दिशा ही बदल दी.

फिल्म तेलुगु फिल्म ‘पोकिरी (2006)’ की रीमेक थी जिसमें महेश बाबू लीड रोल में थे. लेकिन ‘वॉन्टेड’ की कामयाबी के बाद सलमान खान का एक्शन भरा अंदाज इतना हिटा हुआ कि आज वे ‘टाइगर जिंदा है’ तक का सफर तय कर चुके हैं. तेलुगु सुपरस्टार महेश बाबू की पत्नी और बॉलीवुड एक्ट्रेस नम्रता शिरोडकर का आज जन्मदिन है.

View this post on Instagram

Just now … back then !! ?????

A post shared by Namrata Shirodkar (@namratashirodkar) on

1993 में मिस इंडिया का ताज अपने नाम करने वाली नम्रता 46वां जन्मदिन मना रही हैं. नम्रता इन दिनों लाइमलाइट से दूर हैं. मिस इंडिया बनने के बाद नम्रता सुर्खियों में आई थीं. वे मिस यूनिवर्स की प्रतियोगिता में भी पांचवें स्थान पर रही थीं.

महाराष्ट्र के ब्राह्मण परिवार में 22 जनवरी, 1972 को जन्म लेने वाली नम्रता शिरोडकर की बड़ी बहन शिल्पा शिरोडकर मशहूर अभिनेत्री रही हैं. इनकी दादी भी बीते जमाने की मशहूर अभिनेत्री थीं, जिनका नाम था मीनाक्षी. नम्रता पहली बार स्विम सूट पहनकर बड़े पर्दे पर आईं तो चर्चा का केंद्र बन गईं.

इनकी शिक्षा मीठीबाई विश्वविद्यालय में हुई. नम्रता का बचपन भी फिल्मी माहौल में बीता. बहन और दादी की तरह उन्होंने भी अभिनय को ही अपने जीवन का मुख्य ध्येय बनाना सही समझा.

नम्रता ने अपने करियर की शुरुआत 1993 में मॉडलिंग से की. फिल्म ‘जब प्यार किसी से होता है’ में उन्होंने छोटी सी भूमिका निभाई. यह उनकी पहली फिल्म थी. इस फिल्म के पहले भी उन्होंने फिल्म ‘पूरब की लैला, पश्चिम का छैला’ साइन की थी, लेकिन यह फिल्म रिलीज नहीं हो सकी.

इसके बाद वह एक सुपरहिट फिल्म ‘वास्तव’ में संजय दत्त के साथ दिखाई दीं. एक सफल फिल्म होने के बाद भी इसका कोई प्रभाव नम्रता के करियर पर नहीं पड़ा.

फिल्म ‘पुकार’, ‘हेराफेरी’, ‘अस्तित्व’ ‘कच्चे धागे’, तेरा मेरा साथ रहे’ और ‘एलओसी कारगिल’ जैसी फिल्मों में नम्रता ने बहुत अच्छा काम किया, लेकिन इन फिल्मों में इनका सहयोग कम था. इसके बाद उन्होंने दक्षिण की फिल्में करनी शुरू कर दीं.

लगातार कई फ्लॉप फिल्में देने के बाद भी नम्रता बॉलीवुड में बनी रहीं. फिल्म ‘वास्तव’ की शूटिंग के दौरान उनका अफेयर महेश मांजरेकर के साथ हुआ, लेकिन वे ज्यादा दिन साथ नहीं रह पाए.

2000 में तेलुगु फिल्म ‘वानसी’ की शूटिंग के दौरान उनकी मुलाकात दक्षिण के सुपरस्टार महेश बाबू से हुई. महेश बाबू, नम्रता से उम्र में तीन साल छोटे हैं. मगर कुछ साल बाद दोनों ने फरवरी, 2005 में शादी कर ली. उनके दो बच्चे हैं गौतम और सितारा.

नम्रता आखिरी बार फिल्म ‘ब्राइड एंड प्रेजुडिस’ और ‘रोक सको तो रोक लो’ में नजर आई थीं. फिल्म ‘वास्तव’ के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के तौर पर आईफा पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

शादी के बाद उन्होंने अपनी अभिनय की जिंदगी से मुंह मोड़ लिया और पारिवारिक जिंदगी में व्यस्त हो गईं.

advt
Back to top button