BP की समस्‍या से बचना है तो करें ये एक काम

नई दिल्ली : चिकित्सा विशेषज्ञों का मानना है कि अगर आपकी दिनचर्या व जीवन-शैली ठीक नहीं है, तो आपको उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) की शिकायत हो सकती है। चिकित्सा विशेषज्ञों ने एमिटी यूनिवर्सिटी में रविवार को आयोजित तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में अपनी बात रखी। डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ साइकोलॉजिकल रिसर्च में वैज्ञानिक डॉ. नीति शर्मा ने कहा कि उच्च रक्तचाप जीवन-शैली (लाइफ स्टाइल) से जुड़ी समस्या है और कामकाजी लोगों में समस्या होना आम बात है।

सम्मेलन के समापन सत्र की अध्यक्षता राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी ने की। विशेष अतिथि डॉ. संजीव कुमार, संचालक प्रोफेसर उमा जोशी, आयोजन सचिव डॉ. कोमल वर्मा समेत यूनिवर्सिटी के अधिकारी और भागीदार भी शामिल हुए। सत्र के दौरान चार प्रतिभागियों को बेस्ट पेपर प्रजेंटेशन अवार्ड और दो पोस्टर प्रजेंटेंशन अवार्ड प्रदान किए गए।

डायबीटिज और हाई ब्लड प्रेशर में संबंध : डायबीटिज और हाई ब्लड प्रेशर में गहरा संबंध है। डायबीटिज के मरीजों में हाई ब्लड प्रेशर होने का जोखिम लगा रहता है। दरअसल 60% से भी ज्यादा मामलों में ऐसा देखा गया है कि डायबीटिज के मरीज हाई ब्लड प्रेशर यानि उच्च रक्तचाप के शिकार हो हीं जाते हैं।

महिलाओं में 6.1 फीसदी डायबिटीज : ‘जामा इंटरनल मेडिसिन’ मैग्जीन में पब्लिश इस रिसर्च में कहा गया है कि भारत में मध्यम आयु व बुजुर्गो में मधुमेह व उच्च रक्तचाप की दर ज्यादा है। रिसर्च में कुल मिलाकर डायबिटीज का प्रसार महिलाओं में 6.1 फीसदी और पुरुषों में 6.5 फीसदी है। रिसर्च में पता चला है कि हाई ब्लड प्रेशर का महिलाओं में प्रसार 20 फीसदी और पुरुषों में 24.5 फीसदी है।रिसर्च के मुताबिक, हाई ब्लड प्रेशर का प्रसार 18-25 वर्ष आयु वर्ग में 12.1 फीसदी है।

new jindal advt tree advt
Back to top button