धान कटाई से पीएम आवास निर्माण कार्य में लगा ब्रेक

सरायपाली।

1 नवम्बर से धान खरीदी शुरू होने के कारण इन दिनों पूरे क्षेत्र में धान कटाई का कार्य जोरों पर चल रहा है। अधिकांश किसान, मजदूर आदि धान कटाई के काम में ही व्यस्त हैं। इससे प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बनने वाले भवन निर्माण का कार्य बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

कई ग्रामों में भवन निर्माण कार्य शुरू होने के बाद मजदूर के अभाव में उसी स्थिति में आधे अधूरे पडे हैं। भवन अधूरे होने के कारण हितग्राहियों को आगे की किश्त मिलने में भी समस्याएं आ रही हैं। वहीं दूसरी ओर मजदूर पलायन भी कर रहे हैं जिससे मजदूरों की कमी देखी जा रही है।

ग्रामीण एवं गरीब परिवारों जिनके पास स्वयं का पक्का मकान नहीं है, उनके लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास निर्माण स्वीकृत किया गया है।विकासखण्ड में सन 2011 के सर्वे सूची में जिन लोगों का कच्चा मकान था उन्हें आवास योजना का लाभ दिया जा रहा है।

इस योजना के तहत ब्लॉक के लगभग सभी गांव में आवास निर्माण शुरू हो चुके हैं। जो हितग्राही स्वयं मजदूरी करके मकान निर्माण कर रहे हैं, उन्हें मकान बनाने में किसी प्रकार कीअसुविधा नहीं हुई और उन्होने निर्माण कार्य पूरा भी कर लिया है। लेकिन कुछ हितग्राही जो मिस्त्री या मजदूरों के भरोसे निर्माण कार्य करा रहे हैं उनमें से अधिकतर अभी भी अधूरे पडे हुए हैं।

इन दिनों क्षेत्र में धान कटाई का कार्य प्रारंभ हो जाने के कारण इस योजना पर भी ग्रहण लग गया है। क्षेत्र के अधिकांश मजदूर धान कटाई में व्यस्त हो गए हैं। जिससे पीएम आवास योजना के भवनों को पूर्ण करने के लिए मजदूरों की अत्यधिक कमी हो गई है। यही कारण है कि कई भवन आधे अधूरे बनकर उसी स्थिति में पडे हैं।आने वाले पखवाडे भर तक यही स्थिति बने रहने की बात हितग्राहियों द्वारा कही जा रही है।

उच्चाधिकारियों द्वारा अधीनस्थ कर्मचारियों को 31 दिसम्बर तक प्रगतिशील पीएम आवास निर्माण कार्य पूर्ण करा लेने का निर्देश दिया गया है। अब देखना यह है कि वे कर्मचारी मजदूरों के अभाव में किस तरह से निर्माण कार्य पूर्ण करवाएंगे।उनके लिए भी यह किसी चुनौती से कम नहीं होगा।

1
Back to top button