विजय रुपाणी बने रहेंगे गुजरात के सीएम और नितिन पटेल उपमुख्यमंत्री

अहमदाबाद: पिछले कई दिनों से चल रहे मंथन के बाद आखिरकार गुजरात के मुख्यमंत्री के लिए विजय रूपाणी के नाम पर मुहर लग गई है. आज गांधीनगर में पार्टी कार्यालय में पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में हुई बैठक में विजय रूपाणी के नाम पर सहमति बन गई है. गुजरात के नतीजों के बाद मुख्यमंत्री पर मंथन कर रही बीजेपी राज्य में यूपी का फॉर्मूला लागू करने पर विचार कर रही है. सूत्रों के मुताबिक विजय रूपाणी के साथ दो उपमुख्यमंत्री भी हो सकते हैं. इनमें एक चेहरा आदिवासी भी हो सकता है. गांधीनगर स्थित पार्टी कार्यालय में हुई बैठक में पर्यवेक्षक अरुण जेटली और सरोज पांडे के साथ विजय रूपाणी भी हैं.

दो उपमुख्यमंत्रियों में एक चेहरा गणपत वसावा का हो सकता है. गणपत वसावा आदिवासी नेता हैं और पार्टी के लिए लंबे समय से काम करते रहे हैं. माना जा रहा है कि इस बारे में शुक्रवार को फैसला हो सकता है. हालांकि सूत्रों का कहना है कि 25 या 26 दिसंबर को इस बारे में घोषणा हो सकती है.

बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव के बाद पार्टी ने योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाने के साथ दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्या के रूप में दो उपमुख्यमंत्री बनाए. पार्टी की रणनीति ओबीसी समुदाय के साथ ब्राह्मण समुदाय को भी संतुष्ट करने की रही.

विजय रूपाणी मुख्यमंत्री की दौड़ में सबसे आगे

इससे पहले खबर आई थी कि गुजरात में मुख्यमंत्री रूपाणी दौड़ में सबसे आगे हैं. उन्हें केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया से टक्कर मिल रही है. वहीं हिमाचल में तस्वीर थोड़ी साफ होती जा रही है. सूत्रों के मुताबिक जयराम ठाकुर को अब धूमल का भी आशीर्वाद मिल गया.

25 दिसंबर को हो सकता है शपथ ग्रहण समारोह

सूत्रों के मुताबिक गुजरात के नए मुख्यमंत्री का शपथ-ग्रहण 25 दिसंबर को हो सकता है, क्योंकि इस दिन पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन है. साल 2012 के चुनावों के बाद नरेंद्र मोदी ने चौथी बार 25 दिसंबर को ही शपथ ग्रहण किया था.

शपथ ग्रहण समारोह के लिए मुख्य सचिव ने सरदार पटेल स्टेडियम का निरीक्षण भी किया, लेकिन समारोह के लिए महात्मा मंदिर और साबरमती रिवरफ्रंट के विकल्प पर भी विचार किया जा रहा है.

advt
Back to top button