रिश्वतखोर पूर्व डीईओ सुभाष गंजीर को एसीबी ने घर से दबोचा

दंतेवाड़ा: जिला शिक्षा अधिकारी रहे सुभाष गंजीर को एंटी करप्शन ब्यूरो ने शनिवार को जगदलपुर में उनके घर से गिरफ्तार किया। इसके बाद उन्हें दंतेवाड़ा एडीजे कीअदालत में पेश किया गया। जहां से उन्हें 7 जून तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। उनके 24 घंटे जेल में बीत चुके हैं।

बता दें कि एसीबी ने 17 फरवरी 2017 में गंजीर के सरकारी आवास से आठ लाख 71 हजार रुपए नकद बरामद किया था। जगदलपुर के वृंदावन कालोनी में उन्होंने आलीशान मकान बनवाया हुआ है। एसीबी ने यहां भी दबिश दी थी। एंटी करप्शन ब्यूरो इस मामले की विवेचना कर रहा था। उनके खिलाफ सबूत एकत्र कर पूरी तैयारी के बाद गिरफ्तारी की गई।

जाने पूरा मामला
बीते साल फरवरी में यहां पदस्थ जिला शिक्षा अधिकारी सुभाष गंजीर के घर पर एंटी करप्शन ब्यूरो ने छापामार कार्रवाई की थी। शुरूआती जांच में गंजीर के सरकारी आवास में आठ लाख 71 हजार रुपए की बेनामी नगदी बरामद की थी। इसके साथ ही कई कागजात उनके हत्थे चढ़े। सुभाष गंजीर के जगदलपुर स्थित निजी मकान में भी एसीबी के अधिकारी पहुंचे थे। दंतेवाड़ा में जिला शिक्षा कार्यालय के नजदीक ही उसका सरकारी आवास है। गंजीर के जगदलपुर में वृंदावन कालोनी में भी आलीशान मकान बनाया हुआ है।

मंत्री केदार कश्यप के करीबी
सुभाष गंजीर स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप के करीबी रहे हैं। मंत्री कश्यप की धौंस के चलते वे फटाफट तरक्की करते चले गए थे। शिक्षा विभाग में वे शिक्षा देने के अलावा सभी कार्यों में संलिप्त रहते हुए भी डीईओ के पद पर कार्य कर रहे थे।
<>

advt
Back to top button