ब्रिक्स सम्मेलन : दक्षिण अफ्रीका में पीएम मोदी और रूस के राष्ट्रपति की मुलाकात, अपनी दोस्ती को बाताया गहरा

दोनों देशों के बीच व्यापार पिछले साल के मुकाबले 24 प्रतिशत तक बढ़ा है।

नई दिल्ली : रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन अक्टूबर महीने में भारत आने पर विचार कर रहे हैं। गुरुवार को ब्रिक्स सम्मेलन से इतर भारत के प्रधानमंत्री पीएम मोदी से मुलाक़ात के दौरान रूसी राष्ट्रपति ने बात कही।

रूसी राष्ट्रपति ने पिछले एक सालों के बीच दोनों देशों के बीच बेहतर व्यापारिक रिश्ते को लेकर भी ख़ुशी जताई। राष्ट्रपति पुतिन ने बताया, ‘दोनों देशों के बीच व्यापार पिछले साल के मुकाबले 24 प्रतिशत तक बढ़ा है।’

उन्होंने कहा, ‘हम अक्टूबर में भारत आने के लिए तैयार हो रहे हैं। हमारे प्रयास काफी सफल रहे और हमारे पारस्परिक व्यापार में वृद्धि जारी रही।’

वहीं पीएम मोदी ने सोची की अपनी पिछली मुलाकात को याद करते हुए कहा कि भारत और रूस के बीच दोस्ती आगे बढ़ रही है।

पीएम मोदी ने कहा कि, ‘मैं बहुत खुश हूं कि मुझे आप से एक एक बार फिर मिलने का मौका मिला। मुझे सोची की यात्रा हमेशा याद रहेगी, खासतौर पर वो समय जो हमने साथ बिताया। इससे यह भी पता चलता है कि भारत और रूस के बीच दोस्ती मजबूत हो रही है।’

वहीं फीफा वर्ल्ड कप-2018 के सफल आयोजन पर बधाई देते हुए पीएम मोदी ने राष्ट्रपति पुतिन से कहा कि ‘इस आयोजन की मेजबानी से रूस की शक्ति और छवि मजबूत हुई है।’

पुतिन से मुलाकात करने से पहले, पीएम मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग, अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मॉरीसिओ मैक्रिया और अंगोला के राष्ट्रपति जोओओ लोरेनको से भी मुलाकात की।

यह 10 वां ब्रिक्स शिखर सम्मेलन ब्रिक्र्स के इतिहास में अहम साबित होगा। इस बार के शिखर सम्मेलन की थीम है ‘अफ्रीका में ब्रिक्स: चौथी औद्योगिक क्रांति में समावेशी विकास और साझा समृद्धि के लिए सहयोग।’

तीन दिवसीय शिखर सम्मेलन गुरुवार को ब्रिक्स बिजनेस फोरम मीट के साथ शुरू हुआ। भारत ने दक्षिण अफ्रीका के साथ शिक्षा, कौशल, स्वास्थ्य और कृषि के क्षेत्र में एमओयू (समझौता ज्ञापन) पर हस्ताक्षर किए।

Back to top button