छत्तीसगढ़

दूल्हा 16 का दुल्हन 23 की, मिली खबर पहुंची पुलिस

बाराती-घराती को समझाइश के बाद रुका बाल विवाह

मुंगेली। आमतौर पर बाल विवाह के मामलों में नाबालिगों के फे रे लेने का मामला आम है पर जब दूल्हे की उम्र से 8 बड़ी दुल्हन के फेरे लिए जाने की खबर पुलिस तक पहुंची तो सभी चकरा गए। दरअसर मुंगेली पुलिस के पास बालविवाह का अनूठा मामला पहुंचा। जहां लड़की बालिग और लड़के के नाबालिक होने की पुष्टि होने पर बाल विवाह को रोक लिया गया।

जिला कवर्धा से मिली सूचना पर महिला बाल विकास अधिकारी व रक्षा टीम मुंगेली को इस अनूठे बाल विवाह की सूचना दी। महिला सेल प्रभारी ने पूरे घटना क्रम से पुलिस अधीक्षक मुंगेली पारुल माथुर को अवगत कराया पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर ने महिला रक्षा टीम को फौरन मामले में कार्यवाही के निर्देश दिए, जिस पर रक्षा टीम व महिला एवं बल अधिकारी की सयुंक्त टीम ग्राम चमड़ा पहुंची स्थानीय ग्रामीणों ओर वैवाहिक कार्य मे शामिल परिवार की प्रारंभिक पूछताछ कर बाल विवाह को रुकवाया।

बता दें जानकारी के मुताबिक वधु 23 वर्ष टिंगईपुर चमारी ग्राम का विवाह कवर्धा जिले के एक ग्राम के 16 वर्षीय नाबालिग लड़के के साथ होने जा रहा था। पुलिस ने समय पर पहुंच कर वर-वधु को समझाईश देकर मौके पर बाल विवाह को रोकवा दिया और अपनी मौजूदगी में बारातियों को सम्मान के साथ भोजन के बाद बिना विवाह व बिना दुल्हन के अपने गांव रवाना कर दिया। लड़की चूंकि बालिग थी इसलिए उसके पूरे परिवार की काउंसिलिंग की गई तब जाकर उन्हें अपनी गलती की जानकारी हुई। महिला एवं बाल विकास अधिकारी और मुंगेली पुलिस की रक्षा टीम की स्थानीय ग्रामीणों ने भी तारीफ की।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.