हाईकोर्ट से मिली बृजमोहन को बड़ी राहत, पूर्व महापौर किरणमयी नायक की याचिका ख़ारिज

जलकी रिसार्ट मामले में दायर याचिका पर आगे कोई सुनवाई नहीं होगी

बिलासपुर : कांग्रेस नेत्री किरणमयी नायक को हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के खिलाफ गलत तरीके से चुनाव जीतने के मामले में लगायी गयी याचिका हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है।

ये मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के लिए एक बड़ी राहत की खबर है। जलकी रिसार्ट मामले को हाईकोर्ट ने डिस्पोज आफ कर दिया है। मतलब इस मामले में दायर याचिका पर आगे कोई सुनवाई नहीं होगी।

ये निर्णय हाईकोर्ट ने ईओडब्ल्यू के उसी स्वीकारोक्ति के बाद दिया है, जिसमें ये कहा गया है कि इस मामले में आये शिकायत के बाद जांच की जा रही है। दरअसल हाईकोर्ट में मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के खिलाफ रायपुर की पूर्व महापौर किरणमयी नायक ने याचिका दायर की थी।

इस याचिका में मंत्री बृजमोहन अग्रवाल पर जमीन कब्जा करने और पद के दुरुपयोग सहित कई अन्य आरोप लगाये गये थे।

इस मामले में राज्य शासन ने कहा कि इस पूरे मामले की जांच चल रही है, वहीं ईओडब्ल्यू भी इस मामले में जांच कर रही है। ईओडब्ल्यू ने शपथ पत्र में कहा है कि इस मामले में आयी शिकायत को दर्ज कर लिया गया है, जिसके आधार पर आगे की जांच चल रही है।

राज्य शासन का जवाब आने के बाद कोर्ट ने मामले को डिस्पोज आफ कर दिया। कोर्ट ने कहा कि जब इस मामले में ईओडब्ल्यू में जांच रही है, तो मामले की अलग से जांच के आदेश का कोई औचित्य नहीं है।

आपको बता दें कि जलकी रिसोर्ट में जमीन पर कब्जा करने का आरोप संगीन आरोप मंत्री बृजमोहन अग्रवाल पर लगा था। हालांकि इस मामले में खुद बृजमोहन अग्रवाल ने आगे आकर अपना पक्ष मीडिया के सामने रख चुके हैं। इस मामले में पिछले दिनों पूर्व महापौर किरणमयी नायक ने हाईकोर्ट का रूख किया था।

Back to top button