गुजरात

Britannia पर लगाया 31 हजार रुपये का जुर्माना, वजह है बड़ी दिलचस्प

इस पर ग्राहक का कहना था कि वजन में कोई मामूली कमी नहीं बल्कि 7-8 फीसदी कटौती की गई है

नगरपुरा निवासी लालजीभाई पटेल ने जुलाई 2012 में ब्रिटानिया मैरी गोल्ड के 6 पैकेट्स खरीदे थे. उन पैकेट्स में 122.5 ग्राम की क्वांटिटी लिखी थी जबकि पैकेट का वजन 104 ग्राम था. इस बात को लेकर वे अहमदाबाद स्थित कंज्यूमर फोरम में कंपनी के खिलाफ शिकायत लेकर गए और कोर्ट ने जुर्माने के रूप में ब्रिटानिया कंपनी को 25 हजार रुपये कंज्यूमर वेलफेयर फंड में जमा करने का फरमान सुनाया है। और साथ ही साथ ग्राहक को 6000 रुपये का भी भुगतान करने को कहा है.

वजन में बदलाव मौसम और ट्रांसपोर्टेशन की वजह से संभव हो सकता है. कंपनी ने यह भी कहा कि ब्रिटानिया 90 वर्षों से मार्केट बेकरी प्रॉडेक्ट तैयार कर रही है और यह एक ब्रैंड के रूप में स्थापित हो चुका है.

इस पर ग्राहक का कहना था कि वजन में कोई मामूली कमी नहीं बल्कि 7-8 फीसदी कटौती की गई है. कोर्ट को दूसरी रिपोर्ट अप्रैल 2017 में मिली। यह पहली रिपोर्ट से थोड़ी अलग थी. चारों पैकेट प्रिंटेट वैल्यू से कम वजन के थे जिनमें से एक का वजन 107 ग्राम था. कोर्ट ने कहा कि वजन घटने के लिए स्वीकार्य त्रुटि 117 ग्राम है और इस स्तर से भी नीचे एक पैकेट पाया गया है.

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *