ब्रिटिश सरकार ने कोविड टीके लगवा चुके भारतीयों के लिए ब्रिटेन यात्रा के दौरान संगरोध नीति में बदलाव किया

ब्रिटेन ने घोषणा की है कि अब भारतीयों को 11 अक्‍तूबर से ब्रिटेन पहुंचने पर दस दिन के अनिवार्य पृथकवास में जाने की आवश्‍यकता नहीं होगी। लेकिन इसके लिए जरूरी होगा कि उन्‍हें को‍विशील्‍ड या ब्रिटेन द्वारा अनुमोदित कोई अन्‍य टीका लगा हो।

भारत में ब्रिटेन के उच्‍चायुक्‍त एलेक्‍स एलिस ने ट्वीटर से बातचीत में इस मुद्दे पर सहयोग के लिए भारत सरकार का आभार व्‍यक्‍त किया।

इससे पहले ब्रिटेन ने भारत के कोविशील्‍ड को ब्रिटेन ने मान्‍यता नहीं दी थी, जिसकी वजह से भारतीयों को ब्रिटेन पहुंचने पर 10 दिन के पृथकवास पर रहना पड़ता था और वहां पहुंचने के दूसरे और आठवें दिन महंगे कोविड परीक्षण भी कराने पड़ते थे। पिछले सप्‍ताह भारत ने ब्रिटिश सरकार के इस भेदभाव पूर्ण यात्रा नियमों के जवाब में ऐसी ही शर्तें ब्रिटेन से भारत पहुंचने वाले यात्रियों पर लगा दी थी।

सीरम इंस्टीट्यूट इंडिया के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला ने ब्रिटिश सरकार द्वारा 11 अक्टूबर से भारतीयों के लिए संगरोध की शर्त हटाने की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को धन्यवाद दिया। एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि यह दोनों देशों के बीच घनिष्ठ संबंधों का एक बेहतरीन उदाहरण है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button