राज्य

छत ढहने से मलबे में दबकर भाई -बहन की मौत

तहसीलदार व पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छानबीन कर रही

सरवनखेड़ा: गजनेर थाना क्षेत्र के दुआरी गांव में सोमवार की रात कच्चे बरामदे की छत ढहने से मलबे में दबकर भाई -बहन की मौत हो गई। बाकी बचे चार लोगों को मलबा हटाकर पड़ोसियों ने सकुशल निकाल लिया। तहसीलदार व पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छानबीन कर रही है।

बीते सोमवार की देर शाम दुआरी निवासी मनरेगा श्रमिक शिवबरन कुशवाहा, पत्‍‌नी शोभा व बच्चों शिवानी (13), आकाश (10), मुस्कान (7) व सागर (5) के साथ बरामदे में लेटे थे। मध्यरात्रि के बाद करीब दो बजे अचानक बरामदे की कच्ची छत भरभरा कर ढह गई और सभी लोग मलबे में दब गए।

छत गिरने की तेज आवाज सुनकर पड़ोसी पहुंच गए और मलबा हटाकर लोगों को बाहर निकाला लेकिन तब तक शिवानी व आकाश की मौत हो गई।

बच्चों की मौत पर परिजनों के रोने से कोहराम मच गया। घटना की जानकारी मिलते ही तहसीलदार मोहन सिंह, गजनेर एसओ एसके सिंह ने पहुंचकर छानबीन की।

परिजनों द्वारा पोस्टमार्टम कराने से इंकार पर पुलिस ने पंचनामा कर शवों को सुपुर्द कर दिया। तहसीलदार ने बताया कि पीड़ित परिजनों को दैवीय आपदा राहत कोष से अनुमन्य धनराशि की चेक दी जाएगी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
छत ढहने से मलबे में दबकर भाई -बहन की मौत
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt