बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव के बेटे ने की आत्महत्या, कमरे में मिला शव

रोहित की मां शर्मिला देवी इस वक्त कंपनी की ड्यूटी पर गई हुई थीं

नई दिल्ली: बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव के 21 वर्षीय बेटे ने गुरुवार देर शाम को खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। रोहित दिल्ली विश्वविद्यालय में बीए प्रथम वर्ष के छात्र थे और दो दिन पहले ही घर आया था।

रोहित वर्ष 2017 में बीएसएफ के जवान तेज बहादुर यादव जिन्होने खराब खाने की शिकायत की थी उसका बेटा है। तेज बहादुर सिंह मौजूदा समय में प्रयागराज में चल रहे कुंभ मेला में गए हुए हैं, जब उनकी पत्नी घर आई तो उनके बेटे ने अपने आप को गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

फोन पर मिली जानकारी

पुलिस ने इस घटना के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि हमे फोन पर इस बात की जानकारी मिली की बीएसएफ जवान के बेटे रोहित ने आत्महत्या कर ली है। मौके पर हमने पाया कि कमरा अंदर से बंद था जबकि शव कमरे के भीतर बेड पर पड़ा था। रोहित के हाथ में एक पिस्तौल भी थी। उनके पिता कुंभ मेला में गए हुए हैं, हमने उन्हें इस घटना की जानकारी दे दी है।

बीए प्रथम वर्ष का छात्र

आपको बता दें कि रोहित दिल्ली विश्वविद्यालय में बीए प्रथम वर्ष के छात्र थे और दो दिन पहले ही घर आया था। रोहित की मां शर्मिला देवी इस वक्त कंपनी की ड्यूटी पर गई हुई थीं। शाम करकीबन पौने सात बजे जब वह घर पहुंची तो उन्होंने देखा कि रोहत का कमरा अंदर से बंद है,

जब उन्होंने रोहित को आवाज दी तो उसने कमरा नहीं खोला। इसके बाद उन्होंने पड़ोसियों को बुलाया, लेकिन जब कमरा नहीं खुला तो मॉडल टाउन पुलिस को इसकी जानकारी दी गई।

रिवॉल्वर की जांच

मौके पर पुलिस की टीम ने पहुंचकर कमरे का दरवाजा तोड़ा तो अंदर रोहित का शव पड़ा हुआ था और उसके हाथ में रिवाल्वर थी, जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

पुलिस ने बताया कि गोली सिर के आर पार हुई है। पुलिस का कहना है कि अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि यह रिवॉल्वर लाइसेंसी है या अवैध, हम इस बात की जांच कर रहे हैं। दरअसल तेज बहादुर सेवानिवृत्त हो गए हैं ऐसे में उन्हें बाद में लाइसेंसी रिवॉल्वर मिल सकती है। पुलिस ने मामले में आत्महत्या से इनकार नहीं किया है, वहीं मां का कहना है कि रोहित ने आत्महत्या की है।

advt
Back to top button