भारत में रोहिंग्याओं के हो सकते हैं आतंकी संबंध, BSF ने जताई आशंका

सीमा सुरक्षा बल (BSF) का कहना है कि भारत के विभिन्न हिस्सों में रोहिंग्याओं की संख्या करीब 36 हजार है। बीएसएफ प्रमुख ने बुधवार को कहा कि इन लोगों के आतंकी संगठनों से संबंध होने से इनकार नहीं किया जा सकता है। रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी में हो रही देरी के लिए म्यांमार ने बांग्लादेश को ठहराया जिम्मेदार

बीएसएफ के डीजी केके शर्मा ने कहा कि उनके सैनिकों ने इस साल की शुरुआत से 31 दिसंबर तक भारत-बांग्लादेश सीमा पर 87 रोहिंग्या मुसलमानों को हिरासत में लिया है।

इनमें से 76 को बांग्लादेश वापिस भेज दिया गया है। 1 दिसंबर को बीएसएफ के 52 रेजिंग डे से पहले बातचीत में शर्मा ने कहा, मेरी सूचना के अनुसार देश के विभिन्न स्थानों पर करीब 36 हजार रोहिंग्या रह रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सीमा की सुरक्षा करने वाली सेना के सामने ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया जिसमें किसी रोहिंग्या को हथियारों, विस्फोटक के साथ या आतंकी से रिश्तों के संबंध में पकड़ा गया हो।

शर्मा ने कहा, ‘लेकिन इस बात का खतरा है कि इनमें से कुछ के आतंकी संगठनों से संपर्क हो सकते हैं जो कि बहुत गंभीर है।’

Back to top button