टेक्नोलॉजीराष्ट्रीय

बीएसएनएल ने एक्टिविस्ट रेहाना फातिमा को किया अनिवार्य सेवानिवृत्ति

फातिमा के कृत की आंतरिक जांच के बाद लिया गया यह फैसला

कोच्चि: सबरीमाला स्थित भगवान अयप्पा मंदिर में घुसने की कोशिश करने और धार्मिक भावनाओं को भड़काने को लेकर आरोपी रेहाना फातिमा को बीएसएनएल ने सरकारी नौकरी से अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दिया है.

न पर यह भी आरोप लगा था कि षड्यंत्र कर वो अपनी सोशल मीडिया पोस्ट से श्रद्धालुओं की भावनाओं को भड़काती है| कई शिकायतों के बाद एक्टिविस्ट रेहाना फातिमा को सरकारी कंपनी बीएसएनएल ने अनिवार्य सेवानिवृत्त करने का निर्देश दिया है। आदेश में बीएसएनएल ने कहा कि फातिमा के कृत की आंतरिक जांच के बाद यह फैसला लिया गया है।

उधर फातिमा ने इसकी आलोचना करते हुए कहा कि अनिवार्य सेवानिवृत्त किए जाने के फैसले को अदालत में चुनौती देंगी। उन्होंने आरोप लगाया कि इसके पीछे राजनीति हस्तक्षेप है। बीएसएनएल में तकनीशियन के तौर पर कार्यरत फातिमा को नवंबर 2018 में गिरफ्तार किए जाने के बाद निलंबित कर दिया गया था। फातिमा को कथित रूप से फेसबुक के जरिये धार्मिक भावनाएं भड़काने के लिए गिरफ्तार किया गया था।

Tags
Back to top button