बसपा और सपा ने एक-दूसरे को बचाने के लिए किया यह गठबंधन : बृजलाल

एससी-एसटी आयोग के अध्यक्ष बृजलाल ने जमकर निशाना साधा

बाराबंकी: आगामी लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के सुप्रीमो मायावती के गठबंधन के बाद उत्तर प्रदेश के प्रदेश के पूर्व डीजीपी और यूपी के एससी-एसटी आयोग के अध्यक्ष बृजलाल ने जमकर निशाना साधा है.

बाराबंकी पहुंचे बृजलाल ने इस गठबंधन को एक-दूसरे की जरूरत करार दिया. उन्होंने बीजेपी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि बीजेपी सरकार ने दलितों के लिए ऐसे कानून बनाए गए हैं, जिनमें तत्काल सुनवाई के साथ ही लोगों को आर्थिक मदद भी मिल रही है.

एससी-एसटी आयोग के अध्यक्ष बृजलाल ने कहा कि भ्रष्टाचार में डूबी मायावती और अखिलेश ने एक-दूसरे को बचाने के लिए यह गठबंधन किया है. उन्होंने मायावती को दलितों की सबसे बड़ा दुश्मन बताया. बसपा

सरकार के दौरान मायावती ने एक ऐसा एक्ट लागू किया था जिसमें दलितों का हित नहीं था. उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने भी दलितों को बहुत परेशान किया है. बृजलाल ने कहा कि सपा शासन के दौरान ही बाराबंकी कोतवाली में मेरे खिलाफ मुकदमा तक दर्ज कराया गया था.

दरअसल, एससी-एसटी आयोग के अध्यक्ष बृजलाल बाराबंकी पहुंचे, जहां, पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में डीएम और एसपी के साथ बैठक की. बैठक में डीएम उदयभान त्रिपाठी और एसपी डॉक्टर सतीश कुमार समेत अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे.

इस दौरान उन्होंने दलित एक्ट की भी बात की. उन्होंने कहा कि दलित एक्ट के कई मामले देश में ऐसे भी आए हैं, जिनमें गलत तरीके से मुआवजे ले लिया गया है. उन्होंने कई मामलों में रिकवरी कराने की भी बात कही.

1
Back to top button