छत्तीसगढ़

बीएसपी में हादसा, घायल ठेका श्रमिक आईसीयू में भर्ती

बीएसपी में हादसा, घायल ठेका श्रमिक आईसीयू में भर्ती

भिलाई । मंगलवार को बीएसपी में एक और हादसा हो गया। आरएमपी-1 में कन्वेयर बेल्ट में फंसने से ठेका श्रमिक महादेव वर्मा (50) गंभीर रुप से घायल हो गया।उसे इलाज के लिए सेक्टर-9 अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालत नाजुक होने पर आईसीयू में वेंटीलेटर में रखा गया है।

कैसे हुआ हादसा : मंगलवार को बीएसपी के आरएमपी-1 में प्रथम पाली मे कार्यरत ठेका मजदूर महादेव वर्मा आरके-2 लॉन्ग कन्वेयर बेल्ट के ड्राइव ड्रम मे पानी का छिड़काव कर रहा था, उसी दौरान वो बेल्ट में गिर गया और डिस्चार्ज च्यूट में गिर कर नीचे के आरके-2 स्माल कन्वेयर बेल्ट के वेंटिलेशन हुड में जाकर फंस गया। बेल्ट ढीला होने और ड्राइव ड्रम का रबर लैगिंग घिस जाने के कारण बेल्ट ड्रम मे स्लिप हो रहा था, जिस कारण महादेव उसमे पानी छिड़क कर उसे चलाने की कोशिश कर रहा था।

कैसे बची मजदूर की जान : हिंदुस्तान स्टील एम्पलाइज यूनियन (सीटू) नेताओं ने कहा कि, सहकर्मी गणेश राम साहू की सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया। जैसे ही महादेव वर्मा का हाथ बेल्ट में फंसा और बेल्ट की ओर से च्यूट में चले गए, तत्काल उनके सहकर्मी सीनियर ओपेरटर गणेश राम साहू ने इमरजेंसी स्विच ऑफ कर दिया, जिससे बेल्ट रुक गया और महादेव वर्मा बेल्ट के रिफ्रेक्ट्री मटेरियल में दबने से बच गए। घटना और भी गंभीर हो सकता था, लेकिन घायल ठेका श्रमिक के साथ काम कर रहे सहकर्मी के चलते बड़ा हादसा टल गया।

सीटू की सेफ्टी कमेटी ने विभागीय प्रमुख उपमहाप्रबंधक प्रभारी एमके मिश्रा से मिलकर इस तरह की घटना की पुरावृत्ति रोकने के लिये महत्वपूर्ण सुझाव दिए। हादसे के बाद छत्तीसगढ़ मजदूर संघ के विमल कांत पाण्डे, अखिल मिश्र, गिरिराज देशमुख और वी संदीप नायडू ने अस्पताल पहुंच कर मजदूर के इलाज के लिए डाक्टरों व अस्पताल प्रशासन से बात की। वहीं पदाधिकारियों ने ठेकेदार कमलनारायण से मिलकर मजदूर के इलाज खर्च में कोई कोताही न बरतने कहा। छत्तीसगढ़ मजदूर संघ के अध्यक्ष गिरिराज देशमुख ने कहा कि प्रबन्धन और सीटू की सांठगांठ के चलते अभी तक संयंत्र में सुरक्षा समिति का गठन नही हो पाया है।

निदेशक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा ने सुरक्षा समिति के चुनाव तक के आदेश जारी किए थे। जिसके बाद बहुदलीय समिति पर भी विचार किया गया किंतु सीटू की स्वयं की एकल समिति की जिद के कारण अभी तक समिति का गठन नही हो पाया है। महासचिव अखिल मिश्र ने सीटू आड़े हाथ लेते हुए कहा कि क्या सीटू अपने को छोड़ सबको बेईमान मानता है यदि नही तो बहुदलीय समिति पर एतराज क्यों? सुरक्षा में सजगता बरतने की मांग की।

हादसे की खबर मिलते ही श्रमिक संगठनों ने तत्परता दिखाते हुए अस्पताल पहुंच श्रमिक के उचित इलाज की व्यवस्था की। सीटू स्टील जोन के सचिव हेमंत जगम सीटू की सेफ्टी कमेटी के एसपी डे, सविता कुमारी, अली अकबर और कुंजबिहारी के साथ सीटू ठेका यूनियन के महासचिव उमराव सिंह पुरामे, अध्यक्ष यूके सूर्यवंशी तथा सचिव योगेश सोनी भी घटना स्थल पर पहुंचे। सभी ने सुरक्षा में और ज्यादा सजगता बरतने की मांग की।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.