शुजात बुखारी की हत्या करने वाले तीन संदिग्धों की हुई पहचान

एक आतंकवादी द्वारा इस हत्याकांड को अंजाम देने की अपनी शेखी बघारना भारी पड़ा

जम्मू-कश्मीर : बीते दिनों हुए एक वरिष्ट पत्रकार को आतंतियों द्वारा गोलियों से छल्ली करने वाले तीन संदिग्धों की पहचान हो गई है. हालांकि, जांच में पता चला है कि शुजात की हत्याकांड की साजिश पाकिस्तान में रची गई थी.

साजिश रचने वाले आतंकी की भी पहचान हो गई है. इस बीच पुलिस ने खुलासा किया है कि शुजात की हत्या करने वाले एक आतंकवादी द्वारा इस हत्याकांड को अंजाम देने की अपनी शेखी बघारना भारी पड़ा, जिसके चलते तीनों संदिग्धों की पहचान हो सकी.

इस हत्याकांड की जांच कर रही पुलिस ने खुलासा किया है कि संदिग्धों की पहचान किस तरह हुई. पुलिस का कहना है कि घटनास्थल के करीब लगे CCTV कैमरों में कैद तीनों संदिग्धों की पहचान करने में वैसे तो काफी वक्त लग जाता. लेकिन कश्मीर में पिछले सप्ताह एनकाउंटर के दौरान पकड़े गए लश्कर के एक आतंकवादी ने तीनों की पहचान कर ली.

पकड़े गए इस आतंकवादी ने बताया कि शुजात की हत्या में शामिल लश्कर के ही एक अन्य आतंकवादी आजाद अहमद मलिक ने उसे बताया था कि कैसे उसने शुजात की हत्या की. मलिक ने उसे शुजात की हत्या में शामिल दो अन्य आतंकवादियों के नाम भी बता दिए थे.

जम्मू एवं कश्मीर पुलिस ने गुरुवार को शुजात बुखारी की हत्या में शामिल चारों आतंकवादियों के नामों की घोषणा कर दी. पुलिस ने बताया कि इस हत्याकांड का मास्टरमाइंड सज्जाद गुल है, जो पाकिस्तान के रावलपिंडी में रह रहा है. पुलिस ने यह भी बताया कि शुजात की हत्या की पूरी साजिश पाकिस्तान में ही रची गई थी.

पुलिस ने चारों संदिग्धों की तस्वीरें भी जारी की हैं. जानकारी के मुताबिक, 48 वर्षीय सज्जाद पाकिस्तान में प्रशिक्षित आतंकी है, जो पांच साल पहले सीमा पार कर पाकिस्तान चला गया था. पाकिस्तान जाकर लश्कर में शामिल हो चुका सज्जाद मूलत: कश्मीर का है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शुजात को मारने का आदेश लश्कर प्रमुख हाफिज सईद और गुल की तरफ से आया था और इसके लिए गुल ने ही स्थानीय आतंकियों का चयन किया था. पुलिस ने चारों संदिग्धों की पहचान सज्जाद गुल, आजाद अहमद मलिक, मुजफ्फर अहमद और नवीद जट के रूप में की है. पुलिस ने बताया कि मलिक 2016 से दक्षिणी कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों में सक्रिय है.

पुलिस ने बताया कि हम भाग्यशाली हैं कि यह आतंकवादी हमारे हाथ लगा. इसी आतंकवादी ने पूछताछ के दौरान हमें शुजात की हत्या में शामिल तीनों संदिग्धों के नाम बताए और उनकी पहचान भी की.

Back to top button