राष्ट्रीय

बुलंदशहर हिंसा: सीएम योगी ने मानी परिवार की मांगें, इंस्पेक्टर सुबोध को दी गई अंतिम विदाई

नई दिल्ली।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बुलंदशहर (Bulandshahr) के महाव गांव में गोकशी (Cow slaughter) को लेकर सोमवार को भड़की हिंसा बाद जो चिंगारी भड़की है उसकी आग एक दिन बाद मंगलवार को भी शांत होने का नाम नहीं ले रही है।

हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर की पत्नी रजनी ने सुबोध के आरोपी कातिल को उनके हवाले करने की राज्य सरकार से मांग की है। उधर, इंस्पेक्टर सुबोध कुमार के पार्थिव शरीर को अंतिम विदाई दे दी गई। उनके बेटे बेटे ने मुखाग्नि दी।

सुबोध की अंत्येष्टि से पहले अपनी मांगों को लेकर अड़े परिवार की जिद के सामने तेलंगाना में चुनाव प्रचार करने गए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने आश्वासन दिया है। योगी ने अलीगंज के विधायक सत्यपाल सिंह राठौड़ से बात की।

उन्होंने शहीद स्मारक बनाने और इंटरकॉलेज की मांगें मान ली। उधर, दूसरी तरफ इस घटना के पर सियासत भी शुरू हो गई है। यूपी के मंत्री ने बयान दिया है कि ये VHP, आरएसएस और बजरंग दल की साजिश है।

-बुलंदशहर की घटना में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के परिजनों की मदद के लिए एसएसपी डॉ अजयपाल शर्मा की पहल। गौतमबुद्धनगर पुलिस के करीब 23 सौ पुलिसकर्मी अपनी एक दिन की सैलरी (40 लाख रुपये) सुबोध सिंह के परिजनों को देंगे।

-बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार के पार्थिव शरीर की दी गई अंतिम विदाई।

-बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का पार्थिव शरीर अंत्येष्टि स्थल पर पहुंचा, बड़ा बेटा देगा मुखाग्नि।

-बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की पत्नी रजनी ने राज्य सरकार से कहा है कि वह उनके पति के आरोपी कातिल को उन्हें सौपें। वे खुद उसे सजा देंगी। इसके साथ ही, सुबोध के परिवारवालों ने एसआईटी जांच की मांग की है।

-सीएम योगी से मिलने पर अड़े बुलंदशहर हिंसा में मारे गए सुबोध के भाई के रूख को देखते हुए तेलंगाना में चुनावी रैली करने गए मुख्यमंत्री ने अलीगंज के विधायक सत्यपाल राठौड़ के साथ बातचीत की। सीएम ने सुबोध के परिजनों की उन मागों को पूरा करने का आश्वासान दिया है, जिसमें एक शहीद स्मारक और इंटरकॉलेज की मांग की गई थी।

-बुलंदशहर हिंसा के आरोपी जितेंद्र की मां रतन ने कहा, मैं घर पर नहीं थी। लेकिन गांव वालों ने बताया कि 70 पुलिसवाले आए थे। उनके साथ कोई लेडी ऑफिसर भी नहीं थी। वो लोग आए उन्होंने घर में तलाशी और मेरी बहू के साथ मारपीट भी की।

Summary
Review Date
Reviewed Item
बुलंदशहर हिंसा: सीएम योगी ने मानी परिवार की मांगें, इंस्पेक्टर सुबोध को दी गई अंतिम विदाई
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags