छत्तीसगढ़

चार पहिया वाहन में ब्यूरो चीफ लिखाकर गांजे की तस्करी, आरोपी गिरफ्तार

आरोपी कन्हैया सिंह और विकास मरावी के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर न्यायिक अभिरक्षा जेल भेजा गया

कोरिया/चिरमिरी। चार पहिया वाहन में ब्यूरो चीफ लिखाकर अवैध कार्यो को विस्तार करने वाला मुख्य और सातिर आरोपी कन्हैया सिंह उर्फ़ (फर्नाडीश) निवासी महाराजपुर एवं डोमनहिल चिरमिरी वार्ड क्रमांक 40 नेहरू कॉलोनी के साथ उसके पुरे कार्यो को मुख्यतः अंजाम देने वाले दूसरे आरोपी साथी विकास मरावी निवासी कपूर सिंह दफाई छोटी बाजार सर्व प्रथम उसकी मोटर सायकल में दो बड़े बैग में भरकर अवैध गांजा मादक पदार्थ को बेचने की फ़िराक था तथा ग्राहक की तलास में कुरासिया पुराना बस स्टाप के पास खड़ा है जिसकी जानकारी मिलते ही उच्च अधिकारियों के आदेश पर तत्काल एक विशेष टीम बनाकर प्रायवेट वाहन से मौके पर जाकर पूछ ताछ की तो आरोपी मौके से भागने की कोशिश किया जिसको उसकी मोटर सायकल हीरो क्रमांक सी.जी.10 ई.एच.0115 के साथ मोटर साईकल सहित दो बड़े बैग की तलासी लेने पर कुल 6 बड़े साईज के पैकेटो में अवैध रूप से मादक पदार्थ (गांजा) कुल 6 किलों 900 ग्राम जिसकी बाजार कीमत 70000 रूपये को अपने कब्जे में लेकर प्रभावी कार्यवाई की गई।

एवं उसके ही निसान देही पर इस पुरे कार्य को छत्तीसगढ़ राज्य से अपने पडोसी राज्य उड़ीसा से लगातार लाने और पुरे जिले में खपाने का काम करने वाले मुख्य सरगना को उसके साथी आरोपी विकास मरावी के मोबाईल से खुद की दुर्घटना होने की बात कह कर ले जाने की जानकारी दी गई जिस बात को आरोपी ने स्वीकारते हुए आरोपी विकास से प्राप्त जानकारी की सूचना पर आरोपी के मौके की लोकेशन अनुसार इस पुरे मामले की जानकारी पुलिस सहायता केन्द्रा प्रभारी नागपुर को दी गई जिसका सही जानकारी प्राप्त कर आरोपी कन्हैया सिंह उर्फ़ (फर्नाडीश) को उसकी अल्टो कार 800 हंड्रेड क्रमांक सी.जी.16 सी.के.2582 में छिपाकर रखा कुल 03 किलों गांजा जिसकी बाजार कुल कीमती 30 हजार रुपए को अपने कब्जे में लिया गया जो अपने चार पहिया वाहन में मीडिया जगत का हेड ब्यूरो चीफ लिख कर उसकी आड़ में अवैध कार्यो को बखूबी करने की लगातार अंजाम देने में लगा था को गिरफ्तार करते हुए पूरी कार्यवाई को अंजाम दिया गया।

आरोपी विकास मराबी के विरूद्ध धारा 20(ख) एन.डी.पी.एस. एक्ट के तहत तथा मुख्य आरोपी कन्हैया सिंह उर्फ़ फर्नाडिस के विरूद्ध पोड़ी थाना में दर्ज अपराध क्रमांक 152/20 धारा 20(ख) एन डी. पी.एस. एक्ट 25,27 आम्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध न्यायिक अभिरक्षा जेल भेजा गया । इस पूरी कार्यवाई में नगर पुलिस अधीक्षक चिरमिरी पी.पी. सिंह के मार्ग दर्शन में थाना प्रभारी चिरमिरी अश्वनी सिंह के नेतृत्व में टीम प्रभारी उप निरिक्षक सुनील सिंह सहित आरक्षक अशोक मलिक भानू सिंह,यशर्वत सिंह, दिनेश उइके, कमलेश सोनवानी आदि की सराहनीय भूमिका रही ।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button