बजट 2018: ब्रिटिश नागरिकों से 4 गुना कम कमाई पर टैक्स देते हैं भारतीय

फाइनैंशल इयर 2018-19 का आम बजट पेश होने में कुछ ही दिनों का वक्त बचा है। सैलरीड लोगों को अरुण जेटली से टैक्स में छूट की उम्मीद है। फिलहाल 2.5 लाख रुपये से अधिक की आय पर टैक्स का प्रावधान है

नई दिल्ली: फाइनैंशल इयर 2018-19 का आम बजट पेश होने में कुछ ही दिनों का वक्त बचा है। सैलरीड लोगों को अरुण जेटली से टैक्स में छूट की उम्मीद है। फिलहाल 2.5 लाख रुपये से अधिक की आय पर टैक्स का प्रावधान है, लेकिन इस स्लैब को कम से कम 3 या 3.5 लाख रुपये तक किए जाने की उम्मीद की जा रही है।

भारत में डायरेक्ट टैक्स की बात करें तो लोगों को बेहद कम सैलरी पर ही यह अदा करना पड़ता है। ब्रिटिश नागरिकों की तुलना में भारतीयों को उनसे एक चौथाई आय पर ही टैक्स देना शुरू करना पड़ता है।

भारत का मौजूदा टैक्स स्लैब

इनकम टैक्स

2.5 लाख तक कोई टैक्स नहीं

2.5 से 5 लाख पर 5 फीसदी टैक्स

5 से 10 लाख पर 20 पर्सेंट

10 लाख से ऊपर 30 फीसदी टैक्स

50 लाख से 1 करोड़ की आय पर 10% सरचार्ज

1 करोड़ से ज्यादा पर 15% सरचार्ज

इसकी तुलना में इंग्लैड की बात करें तो वहां 11,500 पाउंड यानी करीब 10 लाख 35 हजार रुपये तक की कमाई पर कोई टैक्स नहीं देना पड़ता। देखें, पूरा स्लैब…

इंग्लैंड में कितना लगता है टैक्स

11,500 पाउंड तक कोई टैक्स नहीं

11501-45000 पाउंड पर 20% टैक्स

45,001-1.5 लाख पाउंड पर 40% टैक्स

एक पाउंड की कीमत 90 रुपये के आसपास है। इस हिसाब से देखें तो 11500 पाउंड का मतलब 10 लाख 35 हजार रुपये है, जिस पर इंग्लैंड में कोई टैक्स नहीं लगता। इससे अधिक पर ही 20 पर्सेंट टैक्स लगता है। वहीं, भारत में आय 2.5 लाख रुपये से अधिक होते ही कर चुकाना पड़ता है।

advt
Back to top button