MNCs के ग्लोबल रोल में भारतीयों का जलवा

मुंबई: ग्लोबल कॉर्पोरेट वर्ल्ड में इंडियन टैलंट का जलवा तेजी से बढ़ रहा है। यह ट्रेंड नया नहीं है, लेकिन हाल में इसकी रफ्तार में तेजी आई है।

विभिन्न क्षेत्र की मल्टीनैशनल कंपनियां भारतीय एग्जिक्युटिव्स को अंतरराष्ट्रीय भूमिका देने के लिए इच्छुक नजर आ रही हैं।

विशेषज्ञ बताते हैं कि पिछले एक साल में ही एक दर्जन से ज्यादा ऐसे प्रमोशन हुए हैं। जुलाई में फिलिप्स लाइटिंग ने साउथ एशिया के हेड हर्ष चिताले को अपनी B2B इकाई बिजनस ग्रुप प्रफेशनल का सीईओ बना दिया।

अप्रैल में जापान की कंपनी पैनासोनिक कॉर्प ने अपनी लोकल यूनिट के सीईओ मनीष शर्मा को वाइस प्रेजिडेंट बनाया।

शर्मा कंपनी की ग्लोबल टीम में इकलौते भारतीय हैं। अप्रैल में ही हिंदुस्तान कोका-कोला बेवरजेज में एचआर के एग्जिक्युटिव डायरेक्टर गौरव चतुर्वेदी ने कोका-कोला पिन्या बेवरेजेज म्यांमार के सीईओ का पद संभाला।

चाइनीज हैंडसेट कंपनी शाओमी इंडिया के हेड मनु कुमार जैन को फरवरी में ग्लोबल रोल में लाते हुए वाइस प्रेजिडेंट बना दिया गया था।

इसी तरह, जनवरी में मैकिंजी इंडिया के ऑफिस के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर नोशिर काका को भी ग्लोबल रोल में भेजा गया।

अन्य उदाहरणों में आईबीएम इंडिया और साउथ एशिया के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर अमित शर्मा भी शामिल हैं, जिन्हें दिसंबर में आईबीएम जीबीएस (ग्लोबल बिजनेस सर्विसेज) ऐप्लिकेशन इनोवेशन कंसल्टिंग का ग्लोबल सीओओ बनाया गया है।

इसी तरह, भारत में एरिक्सन के पूर्व एचआर प्रमुख समीर खन्ना अब मैनेज्ड सर्विसेज नेटवर्क्स ऐंड आईटी के एचआर बिजनस साझीदार हैं।

बीटीआई कंसल्टेंट्स के प्रबंध निदेशक जेम्स अग्रवाल ने बताया, ‘वैश्विक संरचना में सीनियर और बेहतर रोल के लिए भारतीय टैलंट की पहचान करने का ट्रेंड तेज हो रहा है।

यहां तक कि अहम रोल में कई तरह के विकल्प में भी भारतीय टैलंट की बढ़त रहती है।’ उनके मुताबिक, भारतीय एग्जिक्युटिव्स में कुछ ऐसी खूबियां होती हैं, जिनकी वैश्विक भूमिका के लिए काफी मांग है।

उन्होंने कहा कि भारतीय एग्जिक्युटिव्स बहुमुखी प्रतिभा के धनी, परिस्थितियों के अनुसार खुद को ढालने में सक्षम और सक्रिय होते हैं। अमेरिकी फूड एंड बेवरेजेज कंपनी पेप्सिको ने इस साल भारत के चार सीनियर और सात मिड-लेवल के मैनेजरों को देश के बाहर वैश्विक भूमिका में भेजा है।

जिन सीनियर मैनेजरों को भारत से बाहर भेजा गया है, उनमें समुद्रा भट्टाचार्य, अंशुल खन्ना भी शामिल हैं।

Back to top button