बिज़नेस

SBI खाता धारक अब हर रोज ATM से निकाल सकेंगे 2 लाख रुपए

नई दिल्ली: भारतीय स्टेट बैंक (SBI) खाता धारक एटीएम से हर रोज दो लाख रुपए तक की निकासी कर पाएंगे. ये लाइन पढ़कर शायद आपको विश्वास नहीं हो रहा होगा, लेकिन यह सच है.

पिछले साल नवंबर में नोटबंदी के बाद से देश भर के बैंकों के एटीएम से पैसे निकालने की लिमिट काफी कम कर दी गई है. फिलहाल कोई भी बैंक उपभोक्ता एटीएम से रोजाना 50 हजार रुपए की निकासी कर सकते हैं.

वहीं दूसरे बैंक के एटीएम से रोजाना 15 हजार रुपए तक की निकासी की जा सकती है. वहीं एसबीआई अपने खाता धारकों के लिए खास स्कीम लेकर आई है.

SBI ने एक ऐसा डेबिट कार्ड लांच किया है जिससे रोजना एटीएम से 2 लाख रुपए की निकासी हो सकेगी. इतना ही नहीं, एसबीआई खाताधारक इस डेबिट कार्ड से रोजाना 5 लाख रुपए तक ऑनलाइन ट्रांजेक्शन कर पाएंगे.

– SBI के क्लासिक डेबिट-कम एटीएम कार्ड (SBI Classic Debit-cum-ATM Card)  से रोजाना एटीएम के जरिए 40 हजार रुपए निकाल जा सकते हैं. वहीं इस डेबिट कार्ड से 50 हजार तक ऑनलाइन ट्रांजेक्शन किया जा सकता है.

इस कार्ड को जारी करने के एवज में एसबीआई उपभोक्ताओं से 300 रुपए और 18 फीसदी GST लेता है. इस डिबेट कार्ड को यूज करने के लिए सालाना उपभोक्ताओं से 100 रुपए लिए जाते हैं.

– एसबीआई प्राइड मास्टर डेबिट कार्ड-एटीएम कार्ड (SBI Pride Master Debit-cum-ATM Card) से रोजाना एक लाख रुपए तक रोजाना निकाला जा सकता है. यह कार्ड देश और विदेश दोनों जगह मान्य होता है.

अब एसबीआई प्राइड कार्ड के जरिए रोजाना 2 लाख रुपए तक ऑनलाइन ट्रांजेक्शन किया जा सकेगा. इसे जारी करने के एवज में भी SBI 300 रुपए 18 फीसदी GST के साथ वसूलती है. इसके अलावा सालाना मेंटेंनस के नाम पर 250 रुपए लिए जाते हैं. मेंटेंनस चार्ज पर 18 फीसदी GST भी वसूला जाता है.

-एसबीआई प्लैटिनम डेबिट-एटीएम कार्ड से आप देश और विदेश में रोजाना दो लाख रुपए तक निकासी कर पाएंगे. वहीं इस कार्ड के जरिए रोजाना 5 लाख रुपए तक ऑनलाइन ट्रांजेक्शन किया जा सकेगा. इस कार्ड को यूज करने के लिए सालाना 350 रुपए 18 फीसदी GST के साथ बैंक को देना होगा.

Summary
Review Date
Reviewed Item
SBI खाता धारक
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.