पोटली से भरे सिक्के लेकर पहुंचे नामांकन फॉर्म खरीदने, अचंभित हुए डिप्टी कलेक्टर

शंकर सिंह राठौड़ :

पेंड्रा रोड :

एक दो पांच और दस रुपए के सिक्के से भरी पॉलिथीन की पोटलिया लेकर एक शख़्स अपने समर्थकों के साथ मरवाही विधानसभा से चुनाव लड़ने के लिए नामांकन फॉर्म लेने सभी सिक्कों को एक थैले में भरकर लगभग डेढ़ सौ किलोमीटर दूर से पहुंचा.

इन सिक्कों की गिनती करने के लिए तीन कर्मचारियों को लगाया गया . लगभग 1 घंटे तक गिनती पूरी होने के बाद उसे नामांकन का फॉर्म दिया गया . मरवाही विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए मरवाही के ग्राम अडभार से लालचंद भरिया थैली में ₹5000 के सिक्के लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचा.

लगभग दोपहर के 3:00 बजे के करीब यह व्यक्ति नामांकन पत्र विक्रय करने वाले कर्मचारियों के आगे थैले में रखे गए अलग-अलग पॉलिथीन में 1, 2, 5 तथा 10 के सिक्कों को रख दिया, जिसे देख कर जिसे देख कर डिप्टी कलेक्टर ए आर टंडन समेत नामांकन फॉर्म देने वाले सभी कर्मचारी भी अचंभित हो गए .

मरवाही तहसील के ग्राम अडभार निवासी लालचंद भरिया ने कहा की वे भरिया समाज के प्रदेश अध्यक्ष हैं तथा भाजपा के सदस्य भी हैं. लेकिन टिकट वितरण में समाज को पूरी तरह से अनदेखा किया गया, इसीलिए समाज के वरिष्ठ लोगों ने सामाजिक बैठक में निर्दलीय चुनाव लड़ने का निर्णय लिया .

इसके बाद 4 गांव से चंदा इकट्ठा किया गया इसी चंदे की राशि लेकर समाज के 40 लोग नामांकन फॉर्म लेने पहुंचे है. लालचंद भरिया ने कहा की वे स्वाभिमान पार्टी भारत के बैनर की ओर से चुनाव लड़ेंगे. ऐसा वाक्या पहली बार देखने को मिला कि कोई प्रत्याशी सिक्के लेकर नामांकन पत्र खरीदने पहुंचा था .

इससे पहले अधिकतर लोगों ने 500 तथा 2000 के ही नोट देकर नामांकन पत्र खरीदा है. इन सिक्कों की गिनती के लिए तीन कर्मियों को लगाया गया था I इन सिक्कों की गिनती होने के पश्चात ही भावी प्रत्याशी को नामांकन पत्र दिया गया.

Back to top button