विभाग का अफसर बनकर शातिरों ने रायपुर के महिला कारोबारी से की 15 लाख की ठगी

काम दिलाने के नाम पर फर्जी टेंडर देते हुए 15 लाख रुपए की ठगी

रायपुर:बिलासपुर में रहने वाले रूद्रा मिश्रा ने खुद को महिला बाल विकास विभाग का डायरेक्टर बताया और उसके दोस्त रितेश शर्मा ने खुद को CBI अफसर बताते हुए रायपुर के शिवम विहार अमलीडीह निवासी महिला कारोबारी शशिकांता तिर्की से जान-पहचान बढ़ाई।

फिर बालौदाबाजार, इंदौर, खंडवा, विदिशा में थ्री-डी वॉल पेंटिंग डिजाइनिंग का काम दिलाने के नाम पर फर्जी टेंडर देते हुए उनसे 15 लाख रुपए की ठगी कर ली। मामले का खुलासा होने पर महिला कारोबारी ने न्यू राजेंद्र नगर थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई।

जिस पर पुलिस ने रूद्रा मिश्रा, उसकी पत्नी स्वाती मिश्रा, आनंद तिवारी, रितेश शर्मा और मनोज भारतद्वाज के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। अब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button