छत्तीसगढ़

शादी का झांसा देकर, पुलिस आरक्षक सालभर करता रहा शारीरिक शोषण

-गर्भवती होने के बाद शादी करने से मुकरा

मनमोहन पात्रे

मुंगेली।

प्रेम जाल में फंसाकर एक पुलिस आरक्षक युवती का साल भर शरीरिक शोषण करता रहा. इस दौरान जब युवती गर्भवती हो गई तो शादी करने से मुकर गया. बिलासपुर की रहने वाली एक युवती मंगलवार को मुंगेली थाना के आरक्षक मुकेश मिश्रा जो कि सिविल लाइन में ड्राइवर के पद पर है के खिलाफ मामला दर्ज कराया.

पीडित युवती ने रिपोर्ट दर्ज कराते हुए कहा कि आरक्षक मुकेश मिश्रा ने प्रेमजाल में फंसाकर शादी करने का आश्वसन देकर साल भर से उसका शरीरिक शोषण करता रहा. जब युवती गर्भवती हो गई तो आरोपी आरक्षक पहले से शादीशुदा हवाला देकर शादी करने से मुकर गया.

सिटी कोतवाली थाना प्रभारी अाशीष अरोरा ने बताया कि युवती के दिए गए बयान के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है. साथ ही आरक्षक मुकेश मिश्रा की तलास की जा रही है.

पीडित युवती ने बताया कि साल भर पहले आरक्षक मुकेश मिश्रा से उसकी मुलाकात हुई थी. जिसके बाद आरक्षक ने युवती से फोन में बात कर अपने प्रेम जाल में फंसा लिया. चालक पुलिस आरक्षक ने युवती इसी दौरान शादी करने का आश्वसन तक दे दिया. जिसके बाद पुलिस आरक्षक युवती को बुला कर उसका शरीरिक शोषण करता रहा. इस दौरान जब युवती गर्भवती हो गई, पीडित युवती ने जब शादी करने की बात कही तो आरक्षक युवती को गुमराह करने लगा.

पहले से शादी शुदा था आरक्षक

पीड़ित युवती ने बताया कि मुकेश के युवती को शादी शुदा होने की बात छिपा के रखा था. जब किसी माध्यम के द्वारा युवती को मुकेश के शादी शुदा होने की बात का पता चला तो, वह अपने आप को ठगा महसूस करने लगी. वहीं आरोपी आरक्षक भी युवती से दूर भागने की कोशिश करता करता रहा. सिविल लाइन थाना प्रभारी ने युवती को न्याय का भरोषा दिलाते हुए आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आश्वसन दिया है.

Summary
Review Date
Reviewed Item
शादी का झांसा देकर, पुलिस आरक्षक सालभर करता रहा शारीरिक शोषण
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt