इतने मुखी रुद्राक्ष धारण करने से इन राशियों को होगा लाभ

रुद्राक्ष एक फल की गुठली है। इसका उपयोग आध्यात्मिक क्षेत्र में किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि रुद्राक्ष की उत्पत्ति भगवान शंकर की आँखों के जलबिंदु से हुई है।

इसे धारण करने से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। रुद्राक्ष शिव का वरदान है, जो संसार के भौतिक दु:खों को दूर करने के लिए प्रभु शंकर ने प्रकट किया है।

रुद्राक्ष भगवान शिव को बहुत प्रिय है, अगर इसे गले में धारण किया जाए तो व्यक्ति पर भोलेनाथ की कृपा बनी रहती है।

प्रत्येक व्यक्ति को अपनी राशि के अनुसार रुद्राक्ष धारण करने से लाभ होता है। राशि के अनुसार आपको कितने मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए, आइए जानते हैं-

मेष राशि : मेष राशि के जातकों को तीन मुखी रुद्राक्ष पहनना चाहिए।

वृषभ राशि : वृष राशि के जातकों को छः मुखी रुद्राक्ष पहनना शुभ रहता है।

मिथुन राशि : मिथुन राशि के जातकों को पंचमुखी और तेरह मुखी रूद्राक्ष पहनना शुभ रहता है।

कर्क राशि : कर्क राशि के जातकों को दो मुखी रुद्राक्ष धारण करने से लाभ होता है।

सिंह राशि : सिंह राशि के जातकों को अपनी राशि के हिसाब से 12 मुखी रुद्राक्ष धारण ​करना चाहिए।

कन्या राशि : कन्या राशि के जातकों को चार मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए।

तुला राशि : तुला राशि के जातकों को छः मुखी रुद्राक्ष धारण करने से लाभ होता है।

वृश्चिक राशि : वृश्चिक राशि के जातकों को तीन मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए।

धनु राशि : धनु राशि के जातक अगर पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करें तो ये उनके लिए लाभकारी रहता है।

मकर राशि : मकर राशि के जातकों को सात या चौदह मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से लाभ होता है।

कुंभ राशि : कुंभ राशि के जातकों को सात या चौदह मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए।

मीन राशि : मीन राशि के जातकों को पांच मुखी रुद्राक्ष धारण करने से बहुत लाभ होता है।

Back to top button