‘हम जामिया नगर नहीं जाते’ कहकर ओला ड्रायवर ने पैसेंजर को बीच रास्ते में उतारा

पुलिस ने भी इस पूरे मामले को बड़ी लापरवाही से लिया

नई दिल्ली। ईद के दिन सभी एक दुसरे को ईदी दे रहें थे । तक़रीबन यह कार्यक्रम रात तक चला. इस ईद के मौके पर पत्रकार अशद अशरफ ने भी दोस्तों के साथ ईद मनाई और फिर घर लौटने के तैयारी की। घर लौटने के लिए उसने ओला कैब बुक की। ओला कैब भी पहुंच गई। असद कैब में बैठा और ड्राइवर को जामिया नगर चलने को कहा। इसके बाद जो कुछ हुआ, उसको अशद भूल नहीं सकता.

असद का आरोप है कि ड्राइवर ने उनके घर यानि जामिया नगर जाने से मना कर दिया। असद के मुताबिक ड्राइवर ने उसे बीच रास्ते छोड़ दिया और जब ड्राइवर से पूछने की हिम्मत की तो उसने अंजाम भुगतने की भी धमकी दी। इसके बाद असद ने इस पूरे वाकये की जानकारी अपने फेसबुक वॉल पर पोस्ट लिखकर दी। वहीं, ओला का कहना है कि उसने ड्राइवर को हटा दिया है।

असद ने इस पूरे घटनाक्रम को फेसबुक पर लिखा और बताया कि कैसे उस रात जान पर बन आई। असद ने लिखा- ‘मैंने बीके दत्त कॉलोनी से ओला कैब बुक की। जैसे ही मैंने ड्राइवर को ओटीपी दिया तो उसे पता लग गया कि मुझे जामिया नगर जाना है।

उसने कार चलानी शुरू की और फिर मुझे एक सुनसान जगह ले जाकर गाड़ी से उतरने को कहा। मैंने कारण पूछा तो कहा- ‘हम जामिया नगर नहीं जाते’। इसके साथ ही उसने मुझसे कहा कि गाड़ी से उतर जाऊं वरना अंजाम भुगतना होगा।

जब मैंने (गाड़ी से उतरने से) मना कर दिया तो वह अपने दोस्तों को फोन करने लगा। मैंने तुरंत ऐप पर एमरजेंसी अलार्म का बटन दबाया। जिसके बाद ओला की ओर से एक कर्मचारी ने मुझे तुरंत कार्रवाई का भरोसा दिया।

मगर एक घंटा बीतने के बाद भी न तो ओला की ओर से कोई जवाब आया और न ही मेरा फोन लिया। इतना ही नहीं, पुलिस ने भी इस पूरे मामले को बड़ी लापरवाही से लिया। मेरी शिकायत लिखने के बाद ये कहकर निकल गए कि बाकी जगह भी जाना है।’

new jindal advt tree advt
Back to top button