छ.ग. राजस्व मण्डल बिलासपुर के निर्देशों को दरकिनार कर नायाब तहसीलदार चला रहे अपना संविधान

- हितेश दीक्षित

छुरा/गरियाबंद:-कोटवार नियुक्ति में तहसीलदार छुरा के आदेश को एसडीएम गरियाबंद, अपर आयुक्त रायपुर संभाग, राजस्व मंण्डल बिलासपुर ने किया खारिज। गरियाबंद जिले के छुरा विकास खण्ड ग्राम खडमा के कोटवार प्रेमशंकर नंदे की मृत्यु वर्ष 2013 में होने के बाद छुरा तहसीलदार ने कोटवार नियुक्ति के लिए आवेदन मंगवाया पंचायत प्रस्ताव भी मंगाया गया। ग्राम पंचायत खडमा ने प्रस्ताव में प्रेम शंकर कोटवार की पत्नी बेवा कुमारी बाई का नाम प्रस्तावित न कर तेजराम नंदे का ग्राम कोटवार के लिए नियम विरुद्ध प्रस्ताव कर तहसीलदार को प्रेसित किया ग्राम पंचायत ने गलती तो किया क्योंकि पंचायतों को राजस्व विभाग के नियम कानून का ज्ञान नहीं होता लेकिन मजिस्ट्रेट कहे जाने वाले तहसीलदार ने भी गलती के उपर गलती करते हुए कोटवार के उत्तराधिकारी कुमारी बाई की नियुक्ति नहीं किया।

कुमारी बाई ने गरियाबंद एसडीएम के समक्ष अपील कर तहसीलदार के फैसले को चुनौती दी एसडीएम ने तहसीलदार छुरा के द्वारा तेजराम नंदे को अस्थायी कोटवार नियुक्ति के आदेश को निरस्त कर दिया। तेजराम नंदे ने भी एसडीएम के फैसले को चुनौती देने के लिए न्यायालय अपर आयुक्त रायपुर संभाग रायपुर में याचिका दायर किया आयुक्त ने भी अपने फैसले में एसडीएम के आदेश को सही मानते हुए तहसीलदार के आदेश में कहा कि मृतक कोटवार की पत्नी कुमारी बाई नंदे को भू राजस्व संहिता की धारा 230के प्रावधानों के अन्तर्गत उसे नियुक्ति में प्राथमिकता प्राप्त होती है।

तहसीलदार छुरा के द्वारा पारित आदेश वैधानिक नहीं है। छत्तीसगढ़ राजस्व मंण्डल बिलासपुर सदस्य अमृत खलखो ने अपने आदेश दिनांक 16-11-18 को पारित करते हुए कहा कि कुमारी बाई का पति पूर्व में कोटवार था उसकी मृत्यु उपरांत नियमतः उसके परिवार वालों को अग्रमान्यता तहसीलदार द्वारा दिया जाना चाहिये था जिस संबंध में शासन के द्वारा भी निर्देश जारी किए गए हैं कि कोटवारो के परिवारों के सदस्य को नियुक्ति में प्राथमिकता देना होगा संहिता में यही प्रावधान है। कुमारी बाई एक पढी लिखी स्वच्छ चरित्र की महिला है उसके उपरांत भी उसे कोटवार के पद पर पदस्थ न कर तहसीलदार द्वारा त्रुटि की गई है।

उच्च स्तरीय राजस्व न्यायालय के आदेश के बाद भी नायब तहसीलदार छुरा जीपी गोस्वामी ने 15 /02/2019 ज्ञापन क्रमांक 401में सरपंच /सचिव ग्राम पंचायत खडमा को पत्र भेजकर कोटवार नियुक्ति के लिए तीन नाम भेजे हैं जिसमें कुमारी बाई ,, नेतराम बघेल ,, तेजराम नंदे में से एक का नाम प्रस्तावित कर भेजने के लिए। नायब तहसीलदार गोस्वामी ने गरियाबंद एसडीएम,, अपर आयुक्त रायपुर संभाग एंव राजस्व मंण्डल बिलासपुर के आदेश में स्पष्ट रूप से उल्लेख है इसके बाद भी प्रारंभिक रूप से प्रस्ताव पंचायत से मांग करना ही समझ से परे है। राजस्व मंण्डल ने अपने फैसले पर कोटवार के एक और दावेदार जिसके उपर अपराध क्रमांक 43/2006,51/1995, धारा 147,294,506,323,417 भारतीय दण्ड विधान इस्तगासा क्रमांक 258/99, 107, 294, 506, 323, 2002, 107, 116(3),151 जापता फौजदारी का अपराध थाना छुरा मे दर्ज हे जिसे कोटवार के लिए उपयुक्त नहीं माना हे जिसे नायब तहसीलदार ने अपने ज्ञापन 15/02/19में पंचायत को तीन लोगों के पैनल पर नाम रखा है।

Back to top button