कैबिनेट मंत्री टी एस सिंहदेव जन घोषणा पत्र में अनियमित कर्मियों के नियमितीकरण के वायदे को पूरा करे – छग संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ

छत्तीसगढ़ के 1 लाख 80 हज़ार से अधिक अनियमित कर्मचारी सरकार द्वारा उनकी अनदेखी किये जाने के कारण में असंतुष्ट है तथा बड़ा कदम उठाने की ओर अग्रसर है।

रायपुर :  वि.प्र, छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ जो कि शासकीय विभागों/निगम /मंडलों/स्वशासी निकायों में कार्यरत समस्त अनियमित (संविदा, दैनिक वेतन भोगी, कलेक्टर दर, मानदेय, प्लेसमेंट, अशंकालिक, जाबदर, ठेका) अधिकारियों/ कर्मचारियों का महासंघ है तथा अपने अनियमित कर्मचारी सदस्य साथियों के हित में निरंतर कार्य कर रही है|

प्रदेश संयोजक अनिल कुमार देवांगन ने बताया

प्रदेश संयोजक अनिल कुमार देवांगन ने बताया कि, छत्तीसगढ़ में 2018 में चुनावी वर्ष के दौरान कांग्रेस वरिष्ठ जनप्रतिनिधियों ने महासंघ के तत्कालीन संघर्ष के दिनों में साथ निभाया था और महासंघ के मांगों को कांग्रेस के 2018 के जन-घोषणा (वचन) पत्र “दूर दृष्टि, पक्का इरादा, कांग्रेस करेगी पूरा वादा” के बिंदु क्रमांक 11 एवं 30 में अनियमित कर्मचारियों के नियमितीकरण करने, छटनी न करने तथा आउट सोर्सिंग बंद करने को स्थान दिया|

इस तारतम्य में प्रदेश अध्यक्ष रवि गढ़पाले ने बताया कि, दिनांक 14 फरवरी 2019 को रायपुर के गांधी मैदान में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री ने स्वयं कहा कि यह वर्ष किसानों लिए है आगामी वर्ष कर्मचारियों का होगा| परन्तु अद्यतन ढाई वर्ष होने जा रहा है के उपरांत भी अनियमित कर्मचारियों के बारे में छत्तीसगढ़ की जन हितैषी सरकार एक कदम भी नियमितीकरण के वायदे को पूरा करने के लिये नहीं उठा पा रही है छटनी रोकना और अनियमित भर्तियों पर रोक लगाना तो दूर की बात है|

वरिष्ठ सदस्य गोपाल प्रसाद साहू

प्रदेश कार्य समिति के वरिष्ठ सदस्य गोपाल प्रसाद साहू ने आगे बताते हुए कहा कि, प्रदेश के 54 विभागों तथा 72 से अधिक योजना परियोजना के अनियमित कर्मचारी वर्तमान में अपनी मांगों को लेकर लामबंद हो रहे है और अब महासंघ और उससे सम्बद्ध 14 संगठनों के प्रदेश अध्यक्षो ने 17 जून 2021 गुरुवार 1 बजे माननीय श्री टी.एस. सिंहदेव, मंत्री छत्तीसगढ़ शासन को उनके निवास में नियमितीकरण एवँ घोषणा-पत्र में किये वादे को याद दिलाने ज्ञापन सौंपने का निर्णय लिया है|

प्रदेश मीडिया प्रभारी अभिषेक ठाकुर ने कहा कि,महासंघ के प्रदेश कार्यसमिति के सदस्यों, प्रांतीय पदाधिकारियों के साथ महासंघ से सम्बद्धता प्राप्त 14 संघो के अध्यक्षो क्रमशः अरूण वैश्णव,पं. सुंदरलाल शर्मा मुक्त वि.वि. बिलासपुर कर्मचारी संघ,विनय हरबंश, छत्तीसगढ़ नवीन व्यावसायिक प्रशिक्षक कल्याण संघ,नीलमणी चंदेल,स्वच्छ भारत मिषन ग्रामीण कर्मचारी कल्याण संघ, मिर्जा शहजार बेग,छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल कर्मचारी कल्याण संघ,पी.के. कौशिक, छत्तीसगढ़ संविदा प्रशिक्षण अधिकारी कल्याण संघ,शगोविंद साहू,आत्मा (कृषि)कर्मचारी संघ, संतोष साहू,

छत्तीसगढ़ राज्य समर्थनमूल्य धान खरीदी कम्प्यूटर आपरेटर संघ,रमा शर्मा, छत्तीसगढ़ कम्प्यूटर शिक्षक संघ,अशोक सिन्हा, अध्यक्ष,एकीकृत बाल संरक्षण योजना संविदा कर्मचारी संघ,चंद्रशेखर अग्निवंशी,छत्तीसगढ़ मनरेगा कर्मचारी महासंघ,लवलीन शर्मा,छत्तीसगढ़ उद्यानिकी अनियमित कर्मचारी संघ,उमेंद महिलांगे, छत्तीसगढ़ शा.औ.प्र.संस्था मेहमान प्रवक्ता कल्याण संघ,रविन्द्र चापड़ी, छत्तीसगढ़ एकलव्य विद्यालय अतिथि शिक्षक संघ, संजय ऐड़े छत्तीसगढ़ प्लेसमेंट कर्मचारी कल्याण संघ ने मिलकर इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु प्रण लिया और महासंघ के चरणबद्ध आंदोलन के प्रथम सोपान की ओर अग्रसर होते हुए 7 चरणों के आंदोलन का आगाज़ करने का फैसला लिया गया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button