अंतर्राष्ट्रीयबिज़नेस

कैंब्रिज एनालिटिका दिवालिया घोषित, बंद किया कामकाज

फेसबुक डेटा चोरी का आरोप है कम्पनी पर

न्यूयॉर्क: फेसबुक डेटा चोरी के लिए विवादों में घिरी ब्रिटिश कंपनी ‘कैंब्रिज एनालिटिका’ ने अपना सारा कामकाज बंद कर कंपनी ने ब्रिटेन और अमेरिका में खुद को दिवालिया घोषित कर दिया हैं जिसके लिए कम्पनी ने आवेदन भी दे दिया हैं.

कैंब्रिज ने एक बयान में कहा, “यह तय किया गया है कि अब व्यवसाय में बने रहने की कोई संभावना नहीं है. कंपनी पर फेसबुक के करोड़ों यूजर्स की निजी जानकारी का दुरूपयोग करने का आरोप है.” लंदन स्थित इस एनालिटिक्स कंपनी की पैरेंट कंपनी एससीएल ग्रुप के संस्थापक नाइजेल ओक्स ने इस बात पुष्टि करते हुए कहा कि कैंब्रिज एनालिटिका जल्द ही अपना बिजनेस बंद कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक बता दे की कैंब्रिज कंपनी पर फेसबुक डेटा लीक मामले में जाँच करने को लेकर लीगल फीस की बड़ी मार पड़ी है जिससे कंपनी लगातार अपने क्लाइंट खोती जा रही हैं. इसके साथ ही कंपनी ने अपने कर्मचारियों से कंप्यूटर सिस्टम लौटाने को कहा है. याद दिला दे की मार्च महीने में कंपनी ने सीईओ अलेक्जेंडर निक्स को निलंबित कर दिया गया था. निक्स ने ऑन रिकॉर्ड दूसरे देशों के चुनावों को प्रभावित की बात स्वीकार की थी. इसके तकरीबन दो महीने बाद कंपनी ने अपना कामकाज बंद करने का ऐलान किया है.

बता दें कि क्रैंबिज एनालिटिका पर आरोप है कि उसने करीब 9 करोड़ यूजर्स के डाटा को चुराया है. जिसके बाद कंपनी ने इस डाटा का गलत इस्तेमाल किया. कंपनी ने न सिर्फ अमेरिकी यूजर्स के डेटा में सेंधमारी की बल्कि एशियाई देशों के यूजर्स का डाटा भी चुराया है. इस डाटा के जरिए 2016 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को भी प्रभावित किया गया. कैंब्रिज एनालिटिका ने 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में डोनाल्ड ट्रंप के लिए काम किया था. हाल ही में कंपनी पर यह भी आरोप लगा था कि उसने 2014 में भारत के आम चुनावों को भी प्रभावित किया था.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button