महिला आरोग्य समिति द्वारा डेंगू से बचाव के लिए चलाया जा रहा अभियान

रायपुर, 18 सितंबर 2021। डेंगू नियंत्रण के लिए महिलाओं द्वारा शहर की स्लम बस्तियों में जन जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान डेंगू से लोगों को बचाव व सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है। वहीं निगम द्वारा पूर्व में संवेदनशील रहे इलाकों में भी लगातार अभियान चलाया जा रहा है। जलजनित बीमारियों से बचाव एवं डेंगू जैसे महामारी से बचने के लिए निगम क्षेत्र के संपूर्ण वार्ड में टेमीफास का वितरण कर मच्छर के लार्वा को समाप्त करने के उपाय लोगों को बताए जा रहे हैं तथा इस कार्य में मितानिन, महिला आरोग्य समिति के सदस्य भी घर-घर घूमकर कूलर, टंकी, कंटेनर, टायर में जमे बरसाती पानी को खाली करवाने में जुटे हैं। निगम के वार्ड क्रमांक 69 के माधवराव सप्रे वार्ड के अंतर्गत कुम्हारपारा में मितानिन एरिया कॉडिनेटर सुमन साहू, मितानिन ट्रेनर सरिता साहू, चंद्रिका, पद्मा, सीमा, गोमती और महिला आरोग्य समिति के जनजागृति चौक के सदस्य जानकी, श्याम बाई, सरोज, सविता साहू, मितानिन मुन्नी साहू, ललीता, मीना साहू द्वारा 250 घरों में जाकर डेंगू के लक्षण एवं बचाव पर चर्चा की गयी।

मितानिन एरिया कॉडिनेटर सुमन साहू ने बताया, रायपुर नगर निगम के शहरी क्षेत्र में 11 वार्डों में लगभग 70 हजार स्लम बस्तियों को 133 मितानिन एवं महिला आरोग्य समितिओं द्वारा घर-घर जाकर जानकारियां दी जा रही है। उन्होंने बताया, मितानिन और महिला आरोग्य समिति के 10 सदस्यों को मितानिन ट्रेनर 7 द्वारा लगातार डेंगू से बचाव के लिए विभिन्न गतिविधियों का संचालन किया जा रहा है। जून से लेकर अब तक 35 डेंगू मरीजों की पहचान कर इलाज कराया गया है। आरोग्य समिति की महिला सदस्यों की सक्रियता से घरों में कूलरों की सफाई पहले से किया हुआ मिल रहा है। आरोग्य समिति की वजह से डेंगू को महामारी की तरह फैलने से रोकने में सफलता मिली है।

मितानिन ट्रेनर सरिता साहू ने बताया, आरोग्य समिति के महिला सदस्यों ने घर-घर जाकर लोगों से कूलर की टंकी, गमला, टायर तथा अन्य चीजें जिसमें पानी जमा रहता है। तथा डेंगू के मच्छर का लार्वा पनपता है। ऐसी जगहों व सामानों को सप्ताह में एक दिन पानी को खाली कर साफ–सफाई करके मच्छरों से बचाव के बारे में बताया गया। नगर निगम क्षेत्र के शहरी मितानिनों द्वारा डेंगू मरीजों का इलाज करवाने तथा फॉलोअप का कार्य किया जा रहा है।

डेंगू परिवार चेकलिस्ट के माध्यम से निगरानी व विभिन्न प्रकार की गतिविधियां मितानिन एवं महिला आरोग्य समिति के माध्यम से की जा रही है। गृह भेंट कर परिवारों को डेंगू की जानकारी देकर लार्वा की पहचान करना सिखाया गया। डेंगू से बचाव को लेकर संदेशों का दीवार लेखन किया जा रहा है। गृह भेंट के दौरान साप्ताहिक सूखा दिवस के बारे में जानकारी देते हुए महिलाओं को बताया जा रहा है कि इस दिन घरों के बर्तन को खाली करते है तथा उसे सूखाकर या पोंछकर फिर से पानी भरते हैं।

मितानिन व आरोग्य समिति के सदस्यों गडढों की पहचान करते हुए जहां पानी जमा हो रहा है वहां जला तेल या मिट्टी का तेल डाल रहे है। मितानिन गृह भेंट के दौरान बुखार के मरीजों की पहचान कर रक्त जांच कराने व समुचित इलाज की जानकारी दे रहीं हैं। इस के अतिरिक्त परिवारों को मच्छरदानी लगाकर सोने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। समिति के सदस्यों को 15 से 20 घरों की निगरानी की जिम्मेदारी दी गई है। समिति के सदस्यों द्वारा सप्ताह में एक दिन घरों का भ्रमण किया जा रहा है तथा चेकलिस्ट की जांच की जा रही है कि परिवार वाले चेकलिस्ट भर रहे हैं या नहीं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button