शाह की पाक को दो टूक : गोलियों और बमों के हमलों के बीच नहीं हो सकती शांति वार्ता बोले- हर पाकिस्तानी गोली का जवाब बम से देना ही एकमात्र हल

सीज फायर उल्लंधन और कश्मीर घाटी में आतांकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान से शांति वार्ता जारी रखने के सवाल पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पाक से दो टूक कहा है कि हम गोलियों और बमों के हमलों के बीच शांति वार्ता नहीं कर सकते।

नई दिल्ली।

सीज फायर उल्लंधन और कश्मीर घाटी में आतांकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान से शांति वार्ता जारी रखने के सवाल पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पाक से दो टूक कहा है कि हम गोलियों और बमों के हमलों के बीच शांति वार्ता नहीं कर सकते। शाह ने कहा कि पाकिस्तानी गोली का जवाब बम से देना ही आतंकवाद का एकमात्र हल है। एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में अमित शाह ने कहा कि हम गोलियों और बमों के हमलों के बीच शांति वार्ता नहीं कर सकते। वे एक सवाल का जवाब दे रहे थे, जिसमें पूछा गया था कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भी क्यों पाकिस्तान आतंकवादियों को भारत में घुसपैठ करा रहा है।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत तय
शाह ने गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में हार के सवाल परकहा कि बीजेपी कर्नाटक और 2019 के लोकसभा चुनाव को भारी बहुमत से जीतेगी। उन्होंने कहा कि हार के कारणों की समीक्षा के लिए हमने कमेटी बना दी है, रिपोर्ट के बाद इस पर विचार-विमर्श होगा।

मिशन 2019 की तैयारी शुरू
अमित शाह ने कहा कि उपचुनाव में स्थानीय मुद्दे हावी होते हैं, जबकि आम लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय मद्दों पर लोग वोट करते हैं। अमित शाह ने कहा कि हमने 2014 में सरकार बनाने के अगले दिन से ही मिशन 2019 की तैयारी शुरू कर दी थी। अमित शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी के निर्देशन और उनकी लोकप्रियता के अंडर में हम 2019 का चुनाव लड़ेंगे। समाजवादी पार्टी और बसपा के बीच गठबंधन होने पर क्या यूपी में बीजेपी 50 से अधिक सीटें जीतेगी। इस पर अमित शाह ने कहा कि मीडिया सिर्फ गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा की सीटों को लेकर ही चर्चा में लगा है, जबकि इस पर चर्चा नहीं होती कि हमने भले उपचुनाव में आठ सीटें गंवाईं मगर 11 राज्यों में सरकार बनाई। त्रिपुरा में हमने पहली बार सरकार बनाई, मगर इसकी भी चर्चा नहीं है।

राहुल के मंदिर दर्शन करने पर तंज
अमित शाह ने कर्नाटक में राहुल गांधी के मंदिर, मस्जिद, चर्च के दौरों पर कहा कि वे गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भी दौरा किया थे, मगर क्या हुआ, सब जानते हैं। 1967 के बाद कांग्रेस ने कभी 50 प्रतिशत से ज्यादा वोट नहीं प्राप्त किया, जबकि हमने गुजरात, हिमाचल प्रदेश और त्रिपुरा में 50 से ज्यादा वोट हासिल किया।

मोदी सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि पर बोलते हुए कहा कि गरीबों के जीवनस्तर में सुधार लाना सबसे बड़ी उपलब्धि है।

advt
Back to top button