राष्ट्रीय

लोगों को शाकाहारी बनाने वाले मामले को पारित नहीं दे सकते : सुप्रीम कोर्ट

कोर्ट इस मामले की सुनवाई अब अगले साल करेगा

नई दिल्ली :

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार मांस और चमड़े के निर्यात पर रोक लगाने की मांग करने वाली एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि देश के सभी लोगों को शाकाहारी बनाने के लिए वह आदेश पारित नहीं कर सकता । कोर्ट इस मामले की सुनवाई अब अगले साल करेगा।

जस्टिस मदन बी लोकुर की पीठ ने कहा, ‘सभी लोग शाकाहारी बन जाएं, हम ऐसा आदेश पारित नहीं कर सकते। क्या आप चाहते हैं कि देश के सभी लोग शाकाहारी हो जाएं।’ कोर्ट ने इस मामले की अगली सुनवाई फरवरी के लिए स्थगित कर दी है।

बता दें कि बुधवार को कई हिंदूवादी संगठनों ने नवरात्रि के दौरान मांस की दुकानों पर प्रतिबंध लगाने के लिए सड़कों पर उतरे। संगठनों ने नवरात्रि के दौरान मांस की दुकानें बंद न करने पर संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने की धमकी भी दी।

स्थानीय लोगों का दावा है कि कुछ लोग पालम विहार इलाके में इकट्ठा हुए और सूरत नगर, अशोक विहार, सेक्टर 5 एवं 9, पटौदी चौक, सदर बाजार, बस स्टैंड, डीएलएफ एरिया, सोहना एवं सेक्टर 14 में जबरन मांस बाजार को बंद कराया।

Summary
Review Date
Reviewed Item
लोगों को शाकाहारी बनाने वाले मामले को पारित नहीं दे सकते : सुप्रीम कोर्ट
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags