कश्मीर को भारत से कोई अलग नहीं कर सकता, अलग PM की बात बेकारः राजनाथ सिंह

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पहले देश में एक बार फिर से आर्टिकल 370 और 35ए का मुद्दा गर्मा गया है। भाजपा के घोषणा पत्र में इसका जिक्र आने के बाद बयानबाजी तेज है। वहीं देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने साफ किया है कि कश्मीर को भारत से कोई अलग नहीं कर सकता वहीं कश्मीर में अलग पीएम और राष्ट्रपति की बात बेकार है।

मंगलवार को एक इंटरव्यू में उन्होंने उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती के बयान कहा कि कश्मीर को भारत से अलग करना असंभव है। कोई भी ऐसा नहीं कर सकता। वहीं महबूबा मुफ्ती को लेकर कहा कि वो फ्रस्ट्रेट होकर बोल रही हैं लेकिन हम वही करेंगे जो हमने तय किया है।

वहीं देश में कश्मीरी छात्रों पर हमलों को लेकर कहा कि किसी को भी असुरक्षित महसूस करने की जरूरत नहीं है। मैं आश्वासन देना चाहता हूं कि हर व्यक्ति देश में सुरक्षित है। जो लोग हिंसा में लिप्त हैं उनके खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे। मैंने कल कश्मीर में भी कहा था कि कश्मीरी छात्रों की सुरक्षा हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है।

टू मेन शो और वन मेन पार्टी को लेकर गृह मंत्री ने कहा कि यह सब बेकार बाते हैं। पार्टी अध्यक्ष और प्रधानमंत्री का पद ज्यादा प्रॉमीनेंट है। जब मैं अध्यक्ष था और मोदी जी उम्मीदवार थे तब भी यह कहा जाता था।

लालकृष्ण आडवाणी को लेकर कहा कि उन्होंने ही सबसे पहले हॉट परस्यूट की रणनीति पेश की थी। उन्हें सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक की जानकारी दी गई था। आडवाणी जी राजनीत में लंबे समय से हैं और हमारी प्रेरणा के स्त्रोत हैं। वहीं गडकरी के पीएम कैंडिडेट वाले बयानों को राजनाथ सिंह ने सिरे से खारिज कर दिया।

Back to top button