कैनरा बैंक में 515 करोड़ रुपए का घोटाला, इस कंपनी ने लगाया 10 बैंक को चूना

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक के बाद अब एक और सरकारी बैंक कैनरा बैंक में 515 करोड़ रुपए का घोटाला सामने आया है। फर्स्टपोस्ट की खबर के मुताबिक कैनरा बैंक ने कोलकाता के RP इंफोसिस्टम और उसके डायरेक्टर्स के खिलाफ 515.15 करोड़ की धोखाधड़ी का केस दर्ज करवाया है।

26 फरवरी को इस एफआईआर को पीएनबी के डिप्टी मैनेजर प्रसाद राव ने दर्ज करवाया है। इसको कोलकाता में सीबीआई के पास दर्ज करवाया है। बैंक ने शिवाजी पांजा, कौस्तोव रे, विनय बाफना और देबनाश पाल के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है। इसमें कहा गया है कि इन लोगों ने कैनरा बैंक और 9 दूसरे बैंकों के साथ 515 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की है।

इन बैंकों में एसबीआई, एसबीबीजे, यूनियन बैंक, इलाहाबाद बैंक, ओबीसी, सेंट्रल बैंक, पीएनबी, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, फेडरल बैंक को चूना लगाया गया है। ये धोखाधड़ी स्टॉक, डेटर्स स्टेटमेंट के जरिए किया गई है। एफआईआर में कैनरा बैंक ने आरोप लगाया है कि आर पी इंफोसिस्टम ने बेईमानी से बिक्री को लोन अकाउंट के जरिए नहीं दिखाया और पूरा पैसा उड़ा दिया।

इससे पहले पीएनबी में 12,700 करोड़ रुपए के घोटाले का पता चला था। नीरव और चोकसी तथा उनसे जुड़ी कंपनियों ने पीएनबी के अधिकारियों के साथ साठगांठ कर फर्जी गारंटी पत्र हासिल किये और इलाहाबाद बैंक, एक्सिस बैंक तथा यूको बैंक जैसे भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं से कर्ज लिये। इस मामले की सीबीआई और ईडी पहले ही जांच कर रहे हैं।

Back to top button