प्रत्याशियों को मिली हरी झंडी, 22 को सीएम सहित बीजेपी प्रत्याशी भरेंगे फार्म

शक्ति प्रदर्शन कर मतदाताओं को अपने ओर खींचने का भी प्रयास करेंगे

रायपुर :

आगामी प्रथम चरण के मतदान के लिए मुख्यमंत्री रमन सिंह सहित भाजपा के पांच प्रत्याशी 22 अक्टूबर को अपना नामांकन भरेंगे। भाजपा ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है और भाजपा नामांकन के बहाने शक्ति प्रदर्शन कर मतदाताओं को अपने ओर खींचने का प्रयास भी करेंगे।

हर एक सीट पर गहन चर्चा और विचार विमर्श के बाद दोनों की पार्टियों ने अपने- अपने प्रत्याशियों को हरी झंडी देना शुरू कर दिया है। भाजपा ने जहां चर्चित चेहरों और जीत सकने वाले उम्मीद्वारों को टिकट दे रही है। वहीं कांग्रेस भी भाजपा से पीछे नहीं है। उसने में अपने दो सीटिंग विधायक की टिकट काटकर भाजपा को टक्कर देने वाले प्रत्याशियों को मैदान में उतारने जा रही है।

भाजपा के उम्मीदवार

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भारतीय जनता पार्टी ने राजनांदगांव जिले की सभी छह सीटों के लिए उम्मीद्वारों को हरी झंडी दे ही है। राजनांदगांव विधानसभा क्षेत्र से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, डोंगरगांव से मधुसूदन यादव,

मानपुर- मोहला से कंचनमाला भुआर्य, खुज्जी से रजिंदरपाल सिंह भाटिया, डोंगरगढ़ से विनोद खांडेकर और खैरागढ़ से कोमल जंघेल को पार्टी आलाकमान ने हरी झंडी दे दी है। 20 अक्टूबर को चुनावी समिति के बैठक के पास घोषणा की जाएगी।

कांग्रेस के उम्मीदवार

सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस ने भी अपने उम्मीद्वारो को अपने- अपने विधानसभा में प्रचार करने कह दिया है। लेकिन राजनांदगांव विधानसभा में अभी भी कांग्रेस की सीट से कौन होगा उम्मीद्वार संशय बरकरार है। कांग्रेस ने अपने दो सीटिंग विधायक की टिकट काटकर नए चेहरे को मौका दिया है। उन्होंने डोंगरगांव से दलेश्वर साहू, मानपुर- मोहला से इंद्रशाह, खुज्जी से छन्नी साहू, डोंगरगढ़ से भूनेश्वर बघेल और खैरागढ़ से गिरवर जंघेल को उम्मीद्वार बनाने जा रही है।

मुख्यमंत्री लड़ सकते है दो जगह से चुनाव

विशेष सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह राजनांदगांव के अलावा जगदलपुर से भी चुनाव लड़ सकते है। इसके पीछे यह तर्क दिया जा रहा है, कि मुख्यमंत्री के बस्तर से चुनाव लड़ने से भाजपा का माहौल मजबूत हो जाएगा और वहां की सीटे ज्यादा से ज्यादा जीत ला सके।

Back to top button