कार सवार बदमाशों ने दिनदहाड़े दो छात्रों का किया अपहरण, मामले में जांच जारी…

उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां कोल्हुई क्षेत्र में कार सवार बदमाशों ने दिनदहाड़े दो छात्रों के अपहरण की घटना को अंजाम दिया है। जिसको लेकर पूरे क्षेत्र में हड़कंप मचा है। स्थानीय लोगों की सूचना के बाद पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुटी है। घटना को लेकर सभी लोग दहशत में हैं। बच्चों की मां तरन्नुम अहमद ने गोरखपुर निवासी तलाकशुदा पति सउद अहमद पर अपहरण का आरोप लगाते हुए पुलिस से गुहार लगाई है।

 
दो वाहनों में सवार थे बदमाश
जानकारी के अनुसार, कोल्हुई क्षेत्र के टीपू अब्बासी का बेटा अहमद (10) व बेटी सहरा (8) क्षेत्र के मदर मरियम ग्लोबल स्कूल में कक्षा पांच व तीन में पढ़ते हैं। बुधवार को तरन्नुम के दूसरे पति समद फराज निजी वाहन से दोनों बच्चों को विद्यालय छोड़ने जा रहा था। अभी वह चंदनपुर बाईपास के करीब पहुंचा था कि चार पहिया वाहनों में सवार बदमाशों ने कार को ओवरटेक कर रोक लिया।


विरोध करने पर चालक से मारपीट

तरन्नुम के दूसरे पति समद ने जब विरोध किया तो बदमाशों ने मारपीट शुरू कर दी। इसके बाद बदमाशों ने असलहा दिखाकर कार में बैठे दोनों छात्रों को अपनी गाड़ी में बैठा लिया और लोटन की ओर भागने लगे। घटना को देखकर स्थानीय लोग भी दौड़े तो बदमाश मौके का फायदा उठा कर फरार हो गए। लोगों ने घटना की सूचना परिजन व पुलिस को दी।

पुलिस मौके पर पहुंचकर घटना की जांच में जुट गई। इस संबंध में सीओ सुनील दत्त दूबे ने बताया कि प्रथम दृष्टया पति- पत्नी का विवाद आ रहा है। लेकिन घटना की जांच की जा रही है। शीघ्र घटना का अनावरण किया जाएगा। तहरीर के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस को दिए गए तहरीर में पीड़िता तरन्नुम अहमद ने बताया कि पांच वर्ष पूर्व उसका पहले पति से तलाक हो चुका है। अब वह अपने मायके काेल्हुई में गोरखपुर निवासी दूसरे पति समद फराज के साथ रहती है। बुधवार को उसके दूसरे पति समद बच्चों मु. अहमद व बेटी श्रीद्धा फातिमा को स्कूल छोड़ने कार से जा रहे थे।

अभी वह घर से चंदनपुर स्कूल के पास पहुंचे ही थे कि पहला पति अपने समर्थकों के साथ गाड़ी को ओवरटेक कर रोक लिया, और असलहे के बल पर दोनों बच्चों व दूसरे पति समद को अपने साथ लाए दो गाड़ियों में लेकर फरार हो गए। सूचना मिलते ही मौके पर बड़ी संख्या में भीड़ जुट गई।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button