2022 तक बीयर से चलेंगी कारें

यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल के वैज्ञानिकों के अनुसार बीयर में बड़ी मात्रा में एथेनॉल मौजूद होता है

2022 तक बीयर से चलेंगी कारें

पैट्रोल और डीजल के विकल्पों की तलाश दुनियाभर में हो रही है लेकिन शायद किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि कारें भी बीयर से चल सकती हैं। एक रिसर्च से पता चला है कि कारें वर्ष 2022 तक बीयर से भी चलेंगी।

यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रिस्टल के वैज्ञानिकों के अनुसार बीयर में बड़ी मात्रा में एथेनॉल मौजूद होता है जिसे ब्यूटेनॉल में बदला जा सकता है और इसी से ईंधन भी बनाया जा सकता है जो पारंपरिक ईंधन का एक बढिय़ा विकल्प है। बता दें कि दुनिया के कई देश पैट्रोल-डीजल की जगह पारंपरिक ब्यूटेनॉल ईंधन को अपना रहे हैं।

विशेषज्ञों का मानना है कि वर्ष 2022 तक यह ईंधन का प्रमुख स्रोत भी बन जाएगा। हालांकि इसे अभी एक आदर्श विकल्प भी नहीं माना जा सकता क्योंकि इसमें ऊर्जा घनत्व भी कम है और इंजन के लिए भी उपयुक्त नहीं होगा। ऐसे में इस ईंधन पर और भी सुधार करने की जरूरत है। गौरतलब है कि भारत में प्रदूषण से बचने के लिए सरकार पैट्रोल और डीजल की जगह इलैक्ट्रिक गाडिय़ों पर ज्यादा फोकस कर रही है तथा अभी हाल ही में सियाम ने कहा है कि वर्ष 2030 तक देश के ऑटोमोबाइल बाजार में 40 प्रतिशत इलैक्ट्रिक कारें होंगी।

advt
Back to top button