धोखाधड़ी के आरोपी बबला सिंह समेत 4 के खिलाफ मामला दर्ज

40 लाख का लेनदेन का फर्जी इकरारनामा बनाकर झूठी शिकायत करने का मामला

विकल्प तललवार.

बिलासपुर। बिलासपुर सूदखोरी के आरोपी अमित उर्फ बबला सिंह ने पुरानी रंजिश का बदला लेने 50 रुपए के स्टॉम्प पेपर में व्यवसायी के फर्जी हस्ताक्षर से 40 लाख का लेनदेन का फर्जी इकरारनामा बनाकर झूठी शिकायत करने का मामला सामने आया है।

व्यवसायी की शिकायत पर पुलिस ने बबला और उसके 3 अन्य साथियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।

सिविल लाइन पुलिस के अनुसार तिफरा अभिलाषा परिसर निवासी अरुण सिंह 55 वर्ष व्यवसायी हैं। उनके खिलाफ पारिजात एक्सटेंशन नेहरू नगर निवासी अमित उर्फ बबला सिंह ने 21 जुलाई 2018 को हाईकोर्ट में शिकायत की थी,

जिसमें बबला ने 50 रुपए के स्टॉम्प पेपर नंबर एम 729451 में 20 मई 2015 को वैभव जैन से 40 लाख 20 हजार रुपए का लेनदेन का इकरारनामा प्रस्तुत किया है।

पंजीकृत इकरारनामा में उसने लेनदेन का सौदा कराने में अरुण सिंह की मुख्य भूमिका होने और गवाह के रूप में हस्ताक्षर होने की बात कही है।

बबला ने अपने साथी मनीष सिंह मोनू सिंह कुशवाहा को लेनदेन के शपथ पत्र में गवाहन के रूप में हस्ताक्ष कराए गए।

दोनों गवाहों की उपस्थिति में स्टॉम्प वेंडर खुशाल श्रीवास से 20 मई 2018 को स्टॉम्प पेपर खरीदने और उसी दिन लेनदेन का इकरारनामा करने की बात कही थी।

स्टॉम्प वेंडर ने स्टॉम्प विक्रय कर नंबर 1545 डाला था। शिकायत के बाद अरुण सिंह और वैभव सिंह ने स्टॉम्प पेपर जारी किए जाने की जानकारी निकालवाई थी, जिसमें जिला कोषालय अधिकारी ने स्टॉम्प पेपर क्रमांक 729321 से 730000 तक 31 अगस्त 2015 को जारी करने की जानकारी दी।

स्टॉम्प पेपर में कूटरचना कर फर्जी हस्ताक्षर कर बबला सिंह ने इकरारनामा बनाया था। साथ ही स्टाम्प मस्तूरी रजिस्ट्री कार्यालय से लिया गया था। जिसमें स्टॉम्प वेंडर ने अपने रजिस्टर में 50 रुपए के स्टॉम्प को 20 रुपए का बताते हुए शपथ पत्र के लिए देने का उल्लेख किया है।

साथ ही क्रेता और विक्रेता के कालम में भी किसी का नाम नहीं है। जानकारी निकलवाले के बाद अरूण सिंह और वैभव जैन ने शिकायत एसपी आरिफ एच शेख से की थी।

शिकायत जांच के बाद पुलिस ने आरोपी बबला सिंह, मोनू सिंह, मोनू कुश्वाहा और खुशाल श्रीवास के खिलाफ धारा 211ए 120 बीए34ए 420ए 467ए 468ए 471ए 472 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

Back to top button