आत्महत्या के लिए उकसाने वाले आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज

मौसेरे भाई की हरकतों से परेशान होकर युवती ने की थी आत्महत्या

भरत ठाकुर

बिलासपुर। सीपत क्षेत्र के ग्राम कौड़िया में युवती ने अपने मौसेरे भाई की हरकतों से परेशान होकर खुद पर मिट्टीतेल डालकर आग लगाकर आत्महत्या कर ली थी। उसका मरणासन्न कथन लेने के बाद भी पुलिस ने एक साल तक मामले को दबा दिया था। पुलिस अफसरों ने संज्ञान लेकर आरोपी युवक के खिलाफ अपराध दर्ज करने के निर्देश दिए, अब जाकर पुलिस ने आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस के अनुसार ग्राम कौड़िया निवासी 17 वर्षीय किशोरी के मौसेरे भाई दीपक चौहान उससे एकतरफा प्यार करता था। इसी बात को लेकर वह हमेशा परेशान रहती थी और उसकी गतिविधियों का विरोध करती थी। जून 2017 में दीपक ने उसे जबरिया पकड़ लिया और प्यार का इजहार करने लगा। विरोध करने पर उसके साथ मारपीट भी की थी। इसके चलते युवती तनाव में आ गई। लोकलाज के भय से उसने इस घटना की जानकारी अपने परिजन को भी नहीं दी। कुछ दिन बाद उसने खुद पर मिट्टी तेल डालकर आग लगा ली। उसकी गंभीर हालत को देखते हुए परिजन ने उसे सिम्स में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी।

उसकी मौत के पहले सिम्स चौकी पुलिस ने तहसीलदार के समक्ष उसका मरणासन्न कथन कराया था, जिसमें युवती ने अपनी मौत की कहानी बयां की थी। साथ ही मौसेरे भाई दीपक की करतूतों को उजागर किया था। इसके बाद भी सीपत पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की और सालभर तक इस मामले को दबाए बैठी रही। मर्ग मामलों की समीक्षा के दौरान पुलिस अफसरों ने इस प्रकरण को संज्ञान में लिया।

तब पुलिस ने अपनी गलती छिपाते हुए पल्ला झाड़ लिया और बताया कि आरोपी युवक व मृतका के परिजन आपस में रिश्तेदार हैं। इसलिए कोई बयान देने के लिए तैयार नहीं है। इस पर पुलिस अफसरों ने युवती के बयान को पर्याप्त आधार बताते हुए आपराधिक प्रकरण दर्ज करने के निर्देश दिए। तब जाकर पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ धारा 306 के तहत अपराध दर्ज किया है।

new jindal advt tree advt
Back to top button