खरोरा नगर पंचायत में 12 शिक्षाकर्मियों से 1500 रुपये की मांग करने का मामला

नीलेश गोयल:

खरोरा: नगर पंचायत खरोरा में नगरी निकाय में कार्यरत शिक्षाकर्मियों से समयमान वेतनमान का निर्धारण की फाइल को आगे बढ़ाने को लेकर नगर पंचायत खरोरा में कार्यरत लिपिक सहायक ग्रेड 3 द्वारा शिक्षाकर्मियों से पंजी संधारण ऑडिट करवाने के नाम पर 12 शिक्षाकर्मियों से 1500 रुपये की मांग करने का मामला सामने आया।

खरोरा नगर पंचायत में कार्यरत सहायक ग्रेड 3 लिपिक नेहरू निर्मलकर द्वारा शिक्षाकर्मियों से समयमान वेतनमान के पंजी संधारण ऑडिट के लिए नगरी निकाय में कार्यरत 12 शिक्षाकर्मियों से रुपयों की मांग करने की एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया वायरल हो रहा है,

जिस पर मुख्य नगरपालिका अधिकारी नगर पंचायत खरोरा का नाम लेकर लिपिक रुपयों की मांग करते हुए शिक्षाकर्मियों से फोन में चर्चा करते सुना जा सकता है। यह वॉइस रिकॉर्डिंग इन दिनों सोशल मीडिया काफी चर्चा का विषय बना हुआ है।

वहीं पूर्व में भी नगर पंचायत के परिषद द्वारा पार्षदों की शिकायत के आधार पर नेहरू निर्मलकर सहायक ग्रेड 3 का खरोरा नगर पंचायत से अन्य जगह स्थानांतरण करने का प्रस्ताव नगर पंचायत परिषद द्वारा पारित किया जा चुका है।

किंतु आज पर्यंत उस पर कोई कार्रवाई शासन द्वारा नहीं की विदित हो कि नेहरू निर्मलकर स्थानीय निवासी होने के कारण अपनी ऊंची पहुंच और धौस दिखाकर लोगों से अवैध रकम उगाही करता है।

इस संबंध में मुख्य नगरपालिका अधिकारी खरोरा यादव चर्चा की गई तो उन्होंने कहा मेरे द्वारा किसी प्रकार से कोई भी निर्देश शिक्षाकर्मियों से से पैसा मांगने के लिए नहीं दिया गया है, उक्त लिपिक के ऊपर कार्यवाही की जाएगी।

वही इस संबंध में सहायक ग्रेड 3 लिपिक नेहरू निर्मलकर ने कहा पंजी संधारण के लिए पैसों की जरूरत पड़ती इसके लिए मेरे द्वारा शिक्षा कर्मियों से पैसों की मांग की गई।

Back to top button