छत्तीसगढ़

ग्राम पंचायत केसला में अनियमितता को छुपाने का मामला, ग्रामीणों में रोष व्याप्त

नीलेश गोयल:

खरोरा: जांच के उपरांत के ग्राम पंचायत केसला विकासखंड तिलदा के सरपंच द्रोपति देवांगन द्वारा आचार संहिता लगने के पश्चात लाखों रुपए की जीम के निर्माण सामग्रियों को मनमाने तरीके से शासन-प्रशासन की आंख में धूल झोंक अनियमितता को छुपाने के लिए लगाने की कोशिश की जा रही 10 लाख रूपये गबन के आरोप में घिरी जीम निर्माण पर एसडीएम रायपुर द्वारा आरोपी को समंस जारी करने उपरांत जीम निर्माण कार्य प्रारंभ कर सरपंच व सचिव द्वारा लिपापोती किये जाने से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

ग्राम पंचायत केसला के ग्रामीणों ने बताया कि पूर्व में जिला पंचायत रायपुर सी. ई. ओ. को शिकायत पत्र देकर सरपंच. व सचिव पर शौचालय निर्माण, नल जल योजना, जीम व आक्सीजन जोन, चारागाह के लिये सुरक्षित मैदान में अवैध मुरम खनन सहित अनेक विकास मूलक कार्यो में लाखों रूपये का गबन करने के आरोप में जांच की मांग की थी।

ग्रामीणों की शिकायत पर जिला पंचायत की जांच टीम ग्राम पंचायत केसला पंहुच विडीयो ग्राफी के मध्य 122 ग्रामीणों से ब्यान कलम बद्ध कर शिकायत के सभी बिन्दुओ की स्थल निरीक्षण कर जांच रिपोर्ट जिला पंचायत सी. ई. ओ. सौपीं थी जांच रिपोर्ट के आधार पर एसडीएम रायपुर को आगे की वैधानिक कार्यवाही के लिये रिफर किया गया।

एसडीएम रायपुर प्रणव सिंह द्वारा सरपंच केसला को अपना पक्ष रखने के लिये समंस जारी कर 27 नवंबर को उपस्थित होने का आदेश जारी किये थे। जनपद सदस्य मुकेश भारद्वाज, निलेश अग्रवाल, शत्रुघ्न देवांगन, हरिश देवांगन, ऩोहर देवांगन आदि ग्रामीणों ने बताया कि इसकी शिकायत क्षेत्रीय विधायक सहित सबंधित अधिकारीयो से की गई है।

इस सबंध में एसडीएम रायपुर प्रणव सिंह का कथन “मुझे जीम निर्माण के संन्दर्भ में जानकारी नहीं मैं तत्काल जांच के लिए जनपद पंचायत सी . ई. वो . को कहता हूँ”

Tags
Back to top button